Moneycontrol » समाचार » निवेश

योर मनीः एनपीएस में निवेश के 2 नए विकल्प

प्रकाशित Sat, 17, 2016 पर 11:45  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

निवेश का कौन सा विकल्प बेहतर है, किस निवेश पर आपको कितना रिटर्न मिलेगा? अगर आप भी इन्हीं तमाम सवालों से परेशान है तो पेश हैं आपका फाइनेंशियल गाइड योर मनी, जहां पर हम आपको बताएंगे की आप किस तरह, कहां निवेश करें और सबसे ज्यादा रिटर्न आपको कहां मिलेगा। आज फाइनेंशियल प्लानिंग में आपकी मदद करेंगे वाइसइन्वेस्ट एडवाइर्ज के हेमंत रुस्तगी और उनसे जानेंगे एनपीएस, इक्विटी में पैसा लगाने के 2 नए विकल्प।


अब एनपीएस के जरिए इक्विटी में निवेश और लचीला हुआ है। एनपीएस के लिए पीएफआरडीए ने ग्राहकों को 2 नए विकल्प दिए है। एनपीएस यानी नेशनल पेंशन स्कीम और पीएफआरडीए यानी पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी है। पहले विकल्प में 35 साल की उम्र तक इक्विटी में 75 फीसदी निवेश कर सकते हैं। दूसरे विकल्प में 35 साल की उम्र तक इक्विटी में 25 फीसदी निवेश कर सकते हैं। मौजूदा विकल्प के तहत इक्विटी में 50 फीसदी तक निवेश कर सकते हैं।


नए विकल्पों से एनपीएस में निवेश और आकर्षक हुआ है। सभी तरह के निवेशकों के लिए ये विकल्प मिलेंगे। निवेशक अपने हिसाब से इक्विटी और डेट में निवेश कर सकते हैं। इन विकल्पों के चलते इक्विटी में ज्यादा निवेश से महंगाई से निपटने में मदद मिलेगी। हालांकि इक्विटी में निवेश से जोखिम है लेकिन लंबी अवधि में इसका फायदा होगा। निवेशक के पास इक्विटी में कम निवेश का भी विकल्प है। अगर जोखिम कम लेना हो तो निवेशक इक्विटी में निवेश सीमित रख सकते हैं। निवेश की न्यूनतम सीमा 1000 रुपये करने से अकाउंट एक्टिव रखने में मदद मिलेगी।