Moneycontrol » समाचार » निवेश

योर मनीः लोन और निवेश में कैसे बने बैलेंस

प्रकाशित Fri, 24, 2017 पर 13:05  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

हम दे रहे हैं आपके क्रेडिट कार्ड, लोन और फाइनेंशियल प्लानिंग से जुड़े सवालों के जवाब। इसमें हमारी मदद कर रहे हैं आनंदराठी प्राइवेट वेल्थ मैनेजमेंट के डिप्टी सीईओ, फिरोज अजीज


लोन पर सवाल


सवाल : 2008 में 15 साल के लिए एसबीआई से कर्ज लिया था, तब बैंक ने 7 लाख रुपये के लोन के लिए 8000 रुपये की ईएमआई तय की थी, अब बैंक ईएमआई को बढ़ाकर 10000 रुपये करने के लिए कह रहा है, क्या करें?


जवाब : फिरोज अजीज का कहना है कि कर्ज की अवधि कम करने के लिए बैंक ने ईएमआई बढ़ाई होगी। अच्छी बात ये है कि ईएमआई अगर बढ़ती है तो ब्याज कम देना पड़ेगा। ब्याज कम होने से हाउस प्रॉपर्टी पर लॉस घट जाएगा। हाउस प्रॉपर्टी पर लॉस कम होने से टैक्स ज्यादा देना होगा।


होम लोन पर सवाल


सवाल : एचडीएफसी से 27 लाख रुपये का होम लोन लिया है, क्या मां से पैसे लेकर लोन समय से पहले चुकाने में फायदा होगा? क्या मां से पैसे लेकर कर्ज भुगतान में टैक्स छूट मिलेगी?


जवाब : फिरोज अजीज के मुताबिक ज्यादा पैसे भरकर लोन की किश्त या अवधि कम करवा सकते हैं। हालांकि मां से पैसे लेकर लोन के भुगतान में अतिरिक्त टैक्स छूट नहीं मिलेगी। लेकिन, पहले पैसे भरने से लोन पर ब्याज कम हो जाएगा और ब्याज कम होने से हाउस प्रॉपर्टी पर लॉस घट जाएगा। हाउस प्रॉपर्टी पर लॉस कम होने से टैक्स बढ़ेगा।