Moneycontrol » समाचार » निवेश

योर मनीः सोना v\s इक्विटी, कौन है बेहतर

प्रकाशित Fri, 18, 2018 पर 14:18  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बीते कुछ सालों से सोने में निवेशकों को निराश किया है। सोने ने अच्छे रिटर्न और मुनाफे ना मिलने के कारण अब निवेशकों का रूझान इक्विटी की और बढ़ रहा है। इक्विटी या सोना? किसने दिए बेहतर रिटर्न। सोनो में निवेशित रहना कितना फायदेमंद है इसपर बात करने के लिए हमारे साथ मौजूद हैं आनंद राठी प्राइवेट वेल्थ के डिप्टी सीईओ फिरोज अजीज।


फिरोज अजीज का कहना है कि सोने की डिमांड में कमी की ग्लोबल और घरेलू बाजार के कारण रही है। सरकारी योजनाओं की मार सोने की डिमांड पर कमी है। इक्विटी, बॉन्ड, एफडी में निवेशकों का रूझान ज्यादा है। पिछले 2 सालों में निवेश विकल्पों में 35 फीसदी के मुकाबले 40 फीसदी निवेश बढ़ा है। अच्छे कॉर्पोरेट नतीजों के चलते इक्विटी मार्केट को सहारा मिला है।


सोना और इक्विटी में किनमें निवेश करना चाहिए? इसपर फिरोज अजीज का मानना है कि पोर्टफोलियो में 5 फीसदी से 10 फीसदी सोना रखें। महंगाई को मात देने के लिए म्यूचुअल फंड में निवेश करें। सोने की जगह म्यूचुअल फंड को पोर्टफोलियो में डालें। गोल्ड बॉन्ड में निवेश करें। सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में निवेश सही है।


पोस्ट ऑफिस, स्टॉक एक्सचेंज और बैकों से गोल्ड बॉन्ड खरीद सकते है। बाजार भाव से 2.5 फीसदी ज्यादा रिटर्न मिलता है। सोने पर हो रहें कैपिटल गेन इन बॉन्ड पर लागू नही है। कर्ज लेने पर कोलैटरल के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं।


बेस्ट गोल्ड फंड की बात करें तो आईडीबीआई गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड ने 1 साल 5.07 फीसदी, 3 साल 4.49 फीसदी और 5 साल 2.96 फीसदी रिटर्न दिया है। वहीं एबीएसएल गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड ने पिछले 1 साल में  4.4 फीसदी, 3 साल 4.09 फीसदी और 5 साल में 2.76 फीसदी रिटर्न दिया है जबकि यूटीआई गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड ने 1 साल 4.66 फीसदी, 3 साल 4.3 फीसदी और 5 साल 2.82 फीसदी रिटर्न दिया है।