योर मनीः छोटी बचत योजनाओं में निवेश से कितना फायदा! -
Moneycontrol » समाचार » निवेश

योर मनीः छोटी बचत योजनाओं में निवेश से कितना फायदा!

प्रकाशित Sat, 05, 2016 पर 14:07  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

निवेश की बात जहां आती है, वहां हम सभी को छोटी बचत योजनाएं सबसे पहले याद आती है, कम जोखिम और गारंटी रिटर्न, देने वाले निवेश के इन विकल्पों में घटती ब्याज दरों का असर दिखने लगा है। साथ ही, टैक्स बचाने के लिए हम इनमें निवेश तो कर लेते हैं, लेकिन रिटर्न पर टैक्स लगता है या नही, ये हम नही सोचते। तो आज योर मनी पर हम आपको छोटी बचत योजनाओं में निवेशित रहें या निकल जाएं, इसी पर सलाह देने के लिए हमारे साथ है वाइजइन्वेस्ट एडवाइजर्स के हेमंत रुस्तगी।


हेमंत रुस्तगी का कहना है कि स्मॉल सेविंग स्कीम में निवेश उन निवेशकों के लिए फायदेमंद है जो जोखिम ज्यादा नहीं ले सकतें य कहां जाएं जोखिम लेने की उनकी क्षमता कम है। लेकिन स्मॉल सेविंग स्कीम में निवेश पर फिर गौर करने की जरूरत है। पहले इन स्कीमों में पूरी अवधि में तयशुदा ब्याज मिलता था। लेकिन अब इन स्कीमों में ब्याज बाजार के आधार पर तय होगा। सरकारी सिक्योरिटीज की यील्ड से तय ब्याज दरें तय होगी। ब्याज दरों में तिमाही और सालाना बदलाव होगा।


हेमंत रुस्तगी के मुताबिक स्मॉल सेविंग स्कीम में टैक्स के बाद इन स्कीमों का रिटर्न काफी कम हो जाता है। लंबी अवधि के लिए इन स्कीम में निवेश से नुकसान होता है। ईएलएसएस में ज्यादा रिटर्न के साथ टैक्स छूट का फायदा भी है। टैक्स छूट के लिहाज से पीपीएफ में कुछ निवेश किया जा सकता है। बुजुर्गों के लिए सीनियर सिटिजन स्कीम आकर्षक है।


सवालः हर साल 5000 रुपये एलआईसी जीवन आनंद और एलआईसी जीवन सरल में निवेश कर रहा हूं। हर साल 5,000 निवेश करना है, सलाह चाहिए।


हेमंत रुस्तगीः एलआईसी की पॉलिसी से निकलने की सलाह होगी। सबसे पहले अपने निवेश के लक्ष्य को तय करें। और अपने लिए पर्याप्त इंश्योरेंस ले। इक्विटी फंड में निवेश करना फायदेमंद होगा। रिटायरमेंट के लिए पूरा निवेश एनपीएस में ना करें।