₹500, ₹1000 के नोट पर बैन, अब क्या करें -
Moneycontrol » समाचार » निवेश

₹500, ₹1000 के नोट पर बैन, अब क्या करें

प्रकाशित Thu, 10, 2016 पर 17:00  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नोट पांबंदी से काले धन पर नकेल कसने के लिए सरकार ने बडा कदम उठाया है। इस कदम की एक तरफ, जहां सरहाना हो रही है वहीं, लोगों के जेहन में कई सारे सवाल भी उठ रहे हैं। आज योर मनी की इस खास पेसकश में नोट पाबंदी से जुडे लोगों के सवाल तो लेंगें ही, साथ ही बात करेंगे की आनेवाले वक्त में डिजिटल या कैशलेस सिस्टम के लिए खुद को कैसे तयार करें। और इसमें हमारे मदद करेंगे फाइनेंशियल प्लानर अर्णव पंड्या और सेबी रजिस्टर्ड-इन्वेस्टमेंट एडवाइजर किरन तेलंग


500, 1000 के नोट का क्या करें?,  


आप अपने पुराने नोट बैंक या पोस्ट ऑफिस के अपने अकाउंट में जमा करा सकते हैं। इसमें जमा रकम कितनी भी हो सकती है। आप ये रकम 10 नवंबर से 30 दिसंबर तक जमा करा सकते हैं। काउंटर से पैसे लेने की लिमिट एक दिन में 10000 रुपये और एक सप्ताह में 20000 रुपये है। लेकिन आगे चल कर पैसे निकालने की लिमिट बढ़ाई जाएगी। वैध पहचान पत्र दिखाकर बैंक, पीओ से रकम बदल सकते हैं। किसी भी बैंक ब्रांच, पीओ से रकम बदल सकते हैं।


आप 10-24 नंवबर तक 4000 रुपये तक के नोट बदल सकते हैं। 25 नवंबर से पुराने नोट बदलने की सीमा बढ़ाई जाएगी। नोट ना बदल पाने वालों को एक अवसर और मिलेगा। समय सीमा खत्म होने के बाद आरबीआई में नोट जमा कराना होगा। घोषणापत्र के साथ 31 मार्च तक आरबीआई में पुराने नोट जमा करा पाएंगे। अगर आपका खाता नहीं है तो नया खाता खुलवाकर पैसे जमा करा सकते हैं। 11 नवंबर तक सरकारी अस्पताल, रेलवे, एयर टिकिट बुकिंग काउंटर, सरकारी बस, पेट्रोल, डीजल, गैस स्टेशन में पुराने नोट चलेंगे।


बड़े नोट बंद हुए- अब क्या करें


आप अपने पूरे कैश की अच्छी तरह जांच करें और 500-1000 रुपये के नोट हैं तो बैंक में जमा करें। आप अपने पुराने नोट को नए नोट के साथ एक्सचेंज कर सकते हैं। अकाउंट में जमा कराए गए पैसे पर पूछताछ हो सकती है। एकाएक बढ़ी रकम जमा कराने पर पूछताछ हो सकती है। लिहाजा आपके पास मौजूद कैश को लेकर सफाई होना चाहिए।
 
आप ज्यादातर डिजिटल लेनदेन पर जोर दे और इलेक्ट्रॉनिक लेनदेन को बढ़ाने की कोशिश करें। क्रेडिट, डेबिट कार्ड से खर्च का भुगतान करें। कई खर्च के लिए आप डायरेक्ट फंड ट्रांसफर कर सकते हैं। भुगतान के लिए ई-वॉलेट भी एक अच्छा जरिया है। यूपीआई के जरिए भी आप अपना भुगतान कर सकते हैं।


क्या हैं यूपीआई


यूपीआई यानी यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेज। और ये ऐप नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ने शुरू किया है। इस ऐप से मोबाइल के जरिए पैसे का लेनदेन मुमकिन हो सकता है। इसमें वर्चुअल मोबाइल एड्रेस के जरिए लेनदेन होता है। सिर्फ मोबाइल नंबर या आधार के जरिए भी लेनदेन मुमकिन है। लेनदार के बैंक अकाउंट, आईएफसीआई की जरूरत नहीं होती है। यूपीआई लेनदेन का बेहद सुरक्षित तरीका है। 23 बैंक में यूपीआई की सुविधा मौजूदा है।