Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » निवेश

योर मनीः निवेश से जुड़े सभी सवालों के जबाव

प्रकाशित Fri, 31, 2017 पर 14:03  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

योर मनी आपके म्यूचुअल फंड, इंश्योरेंस, क्रेडिट कार्ड जैसे तमाम मुद्दों से जुड़े सवालों के जवाब देते है। योर मनी में हमारा फोकस है आपकी पूरी फाइनेशिंयल प्लानिंग पर और तमाम सवालों के जवाब देने के लिए हमारे साथ है एलजे बिजनेस स्कूल की पूनम रूंगटा।


सवालः मां को पेंशन से 1.14 लाख रुपये मिलते है, 10 साल के पेंशन रिवीजन के बाद 3 लाख की एकमुश्त रकम मिली है, क्या इस एकमुश्त रकम पर टैक्स लगेगा?


पूनम रूंगटाः एकमुश्त पेंशन पर अगर पहले टैक्स नहीं दिया है तो अब टैक्स लगेगा। क्योंकि पेंशन से हुई इनकम टैक्सेबल होती है।  सेक्शन 80सी में 1.5 लाख तक की टैक्स छूट मिलती है। टैक्स स्लैब के मुताबिक टैक्स चुकाना होगा। वरिष्ठ नागरिकों के लिए 3-5 लाख रुपये तक के इनकम पर 10 फीसदी टैक्स भरना होगा।


सवालः 15,000 रुपये प्रति माह का निवेश कर सकती हैं, 10-12 साल में माता-पिता के रिटायरमेंट के लिए पैसे जमा करने हैं, कहां निवेश करना बेहतर होगा? साथ ही अपने लिए इंश्योरेंस खरीदना है, कौन सा प्लान बेहतर होगा?


पूनम रूंगटाः माता-पिता के रिटायरमेंट के लिए 5000 रुपये प्रति माह का निवेश करें। एसआईपी के जरिए मल्टीकैप या स्मॉलकैप फंड में निवेश करें। इसमें 12 साल तक 5000 रुपये प्रति माह के निवेश से 15,000-16,000 की पेंशन मिलेगी। वहीं अपने लिए 65-70 लाख का टर्म इंश्योरेंस खरीदें और बढ़ती आय के साथ निवेश बढ़ाएं। अपने इंश्योरेंस के लिए बीएसएल इक्विटी फंड, एचडीएफसी इक्विटी फंड और डीएसपीबीआर स्मॉल एंड मिडकैप फंड में निवेश कर सकती है।


सवालः टैक्स सेविंग निवेश से आई राशि से 30 साल बाद की जरूरतें पूरी हो पाएंगी? 20-25 साल के लिए ईएलएसएस में निवेश सही है या लॉक-इन पीरियड के बाद ईएलएसएस से मिली राशि को इक्विटी में निवेश करें?


पूनम रूंगटाः निवेश करते वक्त महंगाई दर को भी ध्यान में रखें।  5 फीसदी महंगाई दर से 30 साल बाद आज का 30,000 का खर्च 1.30 लाख रुपये हो जाएगा। 30 साल बाद के खर्चों के लिए आपको 3 करोड़ जमा करने होंगे। मौजूदा निवेश 8.5 फीसदी ब्याज के साथ पीपीएफ से 50 लाख रुपये जमा होंगे। ईएलएसएस से 15 फीसदी रिटर्न के साथ 4.5 करोड़ जमा होंगे। जिससे रिटायरमेंट का लक्ष्य मौजूदा निवेश से पूरा हो जाएगा।


हालांकि इन बातों का भी ध्यान देना भी जरुरी है। ईएलएसएस में 20-25 साल तक का निवेश सही नहीं होता है। 3 साल का लॉक-इन पूरा हो जाने के बाद, स्मॉलकैप या मिडकैप फंड में पैसे शिफ्ट कर लें। नया निवेश करते रहें।