Moneycontrol » समाचार » निवेश

योर मनीः मिडकैप फंड में निवेश के बेहतर तरीके

प्रकाशित Sat, 22, 2017 पर 12:51  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

योर मनी में आज हमारा फोकस हैं मिडकैप फंड पर। आइए जानते हैं फाइनेंशियल प्लानर अर्णव पंड्या से मिडकैप फंड में निवेश के नुस्के।


मिडकैप फंड में निवेश
बाजार की तेजी में मिडकैप और स्मॉलकैप शेयर ज्यादा बढ़ते हैं। बाजार की मौजूदा रैली में मिडकैप, स्मालकैप का प्रदर्शन बेहतर रहा है। निवेशक मिडकैप फंड के जरिए मिडकैप शेयरों में निवेश कर सकते हैं। पिछले साल लार्जकैप की तुलना में मिडकैप फंड के रिटर्न 10 फीसदी ज्यादा रहे हैं। फंड मैनेजर ऐसी कंपनियों को चुनते हैं जो अच्छा मुनाफा दे सकें। मिडकैप शेयर चुनते समय कंपनी की विस्तार क्षमता भी देखी जाती है।


कैसे चुनें मिडकैप फंड
निवेशक ऐसे फंड को चुनें जिसने बुरे समय में अच्छा प्रदर्शन किया हों। साथ ही फंड को चुनते समय प्रदर्शन की निरंतरता का और फंड के पोर्टफोलियों में शामिल कंपनियों का भी ध्यान रखें। निवेशक मिडकैप फंड में कम से कम 5 साल का नजरिया रखें।


सवालः 5 साल के लिए कम जोखिम वाले फंड में निवेश करना है, कौन से फंड में निवेश करना बेहतर? टैक्स प्लानिंग के लिए कहां निवेश करना चाहिए?


सलाहः आप अपनी जोखिम लेने की क्षमता बढ़ाए और फिलहाल लार्जकैप फंड में निवेश करें। और फिर दूसरे ज्यादा जोखिम वाले फंड में निवेश करें।


सवालः एसबीआई से 40 लाख रुपये का होम लोन लिया है जिसकी ब्याज दर 10.10 फीसदी है, कर्ज सस्ता होने के बावजूद बैंक ब्याज कम नहीं कर रहा है, बैंक का कहना है कि लोन बेस रेट पर है जिसे बदलने के लिए कर्ज के 0.3 फीसदी बराबर चार्ज लगेगा, क्या करें?


सलाहः आप चार्ज भरने से पहले नफा-नुकसान देखें। दरें कम करवाने के लिए चार्ज देने में फायदा होगा। बेस रेट से एमसीएलआर में जाने पर सिर्फ एक बार आपको खर्च होगा। अगर बेस रेट पर ही कर्ज चुकाते हैं तो आपको 0.45 फीसदी सालाना नुकसान होगा।