Moneycontrol » समाचार » निवेश

योर मनी: 60 साल के बाद कहां करें निवेश

प्रकाशित Fri, 21, 2017 पर 19:28  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बुर्जुगों को मोदी सरकार ने तोहफा दिया है। उनके लिए खास पेंशन योजना लॉन्च की गई है। सरकार ने इस योजना का नाम रखा है प्रधानमंत्री वय वंदना योजना। इस स्कीम के तहत 10 साल के लिए 8 फीसदी ब्याज मिलेगा। इसी को ध्यान में रखते हुए योर मनी में आज बुजुर्गों के लिए निवेश योजना पर फोकस किया गया है जिसमें सीएनबीसी-आवाज की खास मेहमान हैं सृजन फाइनेंशियल एडवाइजर्स की फाउंडर दीपाली सेन जो प्रधानमंत्री वय वंदना योजना के साथ ही बुजुर्गों के लिए दूसरे निवेश विकल्पों पर जानकारी देंगी।


आइए सबसे पहले जान लेते हैं प्रधानमंत्री वय वंदना योजना के बारे में जो बुजुर्गों के लिए सरकार की नई पेंशन योजना योजना है। ये योजना 10 साल के लिए 8 फीसदी रिटर्न की गारंटी देती है। एलआईसी द्वारा पेश प्रधानमंत्री वय वंदना योजना 60 साल या ज्यादा उम्र के लोग ही ले सकते हैं। ये प्लान मई 2018 तक लिया जा सकता है जिस पर जीएसटी नहीं लगेगा।


नए पेंशन प्लान की खूबियों की बात करें तो इसमें 10 साल के लिए 8 फीसदी रिटर्न की गारंटी है। हर महीने ब्याज की रकम मिलेगी। इसमें तिमाही, छमाही या सालाना ब्याज का भी विकल्प है। इस योजना में न्यूनतम 144578 रुपये और अधिकतम 7,50,000 रुपये का निवेश किया जा सकता है। इसमें 10 साल बाद निवेश की रकम वापस मिलेगी और निवेश के 75 फीसदी हिस्से तक का लोन लिया जा सकेगा। इसके अलावा गंभीर बीमारी पर प्लान सरेंडर कर सकते हैं प्लान सरेंडर करने पर 98 फीसदी रकम मिलेगी।


बुजुर्गों के लिए दूसरे निवेश विकल्पों की बात करें तो सीनियर सिटीजन स्कीम एक दूसरा निवेश विकल्प है जिसको आप किसी भी बैंक या पोस्ट ऑफिस से खरीद सकते हैं, ये केवल सीनियर सिटीजन के लिए निवेश विकल्प है। इसके तहत रिटायरमेंट फंड मिलने के 3 महीने के भीतर निवेश किया जा सकता है। इसकी निवेश अवधि 5 साल होती है जिसको 3 साल और बढ़ाया जा सकता है। इस स्कीम पर 8.3 फीसदी ब्याज मिलता है। हर तिमाही ब्याज दरों की समीक्षा होती है। इसमें निवेश की अधिकतम राशि 15 लाख रुपये है। एक अकाउंट से ज्यादा खोले जा सकते हैं और 80 सी के तहत निवेश छूट का लाभ भी मिलता है। इस निवेश में मैच्योरिटी पर ब्याज के ऊपर टीडीएस लगेगा।


इसके अलावा पोस्ट ऑफिस मंथली स्कीम के तहत ज्वाइंट खाते में अधिकतम 9 लाख का निवेश किया जा सकता वहीं सिंगल खाते के तहत 4.5 लाख का निवेश किया जा सकता है। इसमें 5 साल की एमआईएस के लिए ब्याज दर 7.5 फीसदी है। इसमें ब्याज पर टैक्स लगेगा, ब्याज बचत खाते में सीधे आएगा।


बुजुर्गों के पास 5 साल की एफडी में निवेश करने का भी विकल्प है जिसमें 80 सी के तहत टैक्स छूट भी मिलता है। इस निवेश में ब्याज पर टैक्स लगेगा। इसमें 5 साल के पहले पैसे नहीं निकाल सकते।


म्युचुअल फंड भी बुजुर्गों के लिए एक निवेश विकल्प है जिसके रिस्क प्रोफाइल के मुताबिक निवेश किया जा सकता है। बुजुर्ग डेट एमएफ में निवेश कर सकते हैं जिसमें सबसे कम जोखिम होता है। इसके अलावा बुजर्ग टैक्स फ्री बॉन्ड और एनुइटी योजना में भी निवेश कर सकते हैं।


टैक्स फ्री बॉन्ड में 10, 15, 20 साल का लॉक इन पीरियड होता है, ब्याज पर टैक्स नहीं लगता, टैक्स फ्री बॉन्ड में मैच्योरिटी तक रूके रहने की सलाह है। एनुइटी योजना की बात करें तो इस निवेश विकल्प में रिटर्न सबसे कम होता है। इसमें 5 से 6 फीसदी तक के रिटर्न की ही उम्मीद की जा सकती है।