Moneycontrol » समाचार » आईपीओ खबरें

ईपीसी कॉन्ट्रैक्ट्स पर रहेगा फोकस: कैपेसिटे इंफ्रा

प्रकाशित Wed, 13, 2017 पर 14:20  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

कैपेसिटे इंफ्रा प्रोजेक्ट्स का आईपीओ खुल गया है। ये इश्यू 15 सितंबर तक खुला रहेगा। कैपेसिटे इंफ्रा प्रोजेक्ट्स के आईपीओ का प्राइस बैंड 245-250 रुपये रखा गया है। आईपीओ के जरिए कंपनी की 400 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है। कैपेसिटे इंफ्रा प्रोजेक्ट्स के आईपीओ का लॉट साइज 60 शेयरों का होगा।


कैपेसिटे इंफ्रा प्रोजेक्ट्स रेजिडेंशियल और कमर्शियल बिल्डिंग बनाने का कारोबार करती है। कंपनी रियल एस्टेट डेवलपर्स के लिए काम करती है। कैपेसिटे इंफ्रा प्रोजेक्ट्स के ग्राहकों में लोढ़ा ग्रुप, रुस्तमजी और गोदरेज प्रॉपर्टीज शामिल हैं। साथ ही प्रेस्टीज एस्टेट्स और ओबेरॉय कंस्ट्रक्शन भी कंपनी के ग्राहक हैं।


कैपेसिटे इंफ्रा प्रोजेक्ट्स के ईडी और प्रोमोटर रोहित कात्याल ने सीएनबीसी-आवाज़ के साथ बात करते हुए बताया कि डीएसपी ब्लैकरॉक इंडिया, टीआईजीईआर फंड, गोल्डमैन सैक्स, एचएसबीसी ग्लोबल इन्वेस्टमेंट, आईसीआईसीआई प्रु, रिलायंस कैपिटल ट्रस्टी, एसबीआई इंफ्रा फंड और कोटक मिडकैप कैपेसिटे इंफ्रा के एंकर निवेशक हैं। कंपनी सुपर हाईराइज बिल्डिंग्स के लिए काम करती हैं। सुपर हाईराइज वो बिल्डिंग हैं जो 200 मीटर से ज्यादा ऊंची होती हैं। कंपनी के ऑर्डर बुक अच्छी तरह से डाइवर्सी फाइड हैं, कंपनी किसी एक या कुछ कंपनियों पर निर्भर नहीं है।


कंपनी पर नोटबंदी का कोई असर नहीं हुआ है क्योंकि उसके अधिकांश ग्राहक ऑर्गनाइज्ड सेक्टर से हैं। नोटबंदी के बाद कंपनी को 2500 करोड़ रुपये का ऑर्डर मिले हैं। उन्होंने आगे कहा कि रेरा रियलएस्टेट सेक्टर के लिए अच्छा साबित होगा। कंपनी के पास इस समय कुल 4600 करोड़ रुपये के ऑर्डर हैं। करीब 56 प्रोजेक्टस पर कंपनी काम कर रही है।