Moneycontrol » समाचार » आईपीओ खबरें

ई-व्हीकल बिजनेस में करेंगे विस्तार: अपोलो माइक्रो

प्रकाशित Wed, 10, 2018 पर 14:16  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

अपोलो माइक्रो सिस्टम्स रक्षा और अंतरिक्ष क्षेत्रों को सेवाएं देती है। सरकारी और निजी दोनों क्षेत्रों को कंपनी अपनी सेवाएं देती है। अपोलो माइक्रो सिस्टम्स कम्युनिकेशंस और टाइम सॉल्यूशंस उपकरण बनाने काम करती है। कंपनी का मुख्यालय हैदराबाद में है।


आज से अपोलो माइक्रो सिस्टम्स का आईपीओ खुला है। इस आईपीओ का प्राइस बैंड 270 से 275 रुपये तय किया गया है। कंपनी ने इस आईपीओ के तहत एंकर इन्वेस्टर्स से 46 करोड़ रुपये जुटाए हैं। इस आईपीओ की लॉट साइज 50 शेयरों की है। रिटेल निवेशकों को 12 रुपये प्रति शेयर डिस्काउंट दिया जा रहा है। कंपनी की इस आईपीओ के जरिए 156 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है।


अपोलो माइक्रो सिस्टम्स के होल टाइम डायरेक्टर साई कुमार ने सीएनबीसी-आवाज़ से बात करते हुए कहा कि कंपनी का मुख्य कारोबार डिफेंस और एयरों स्पेस को इलेक्ट्रॉनिक उपकरण बनाने और सप्लाई करने का है। अपोलो माइक्रो सिस्टम्स एक रिसर्च बेस्ड कंपनी है जो डिफेंस और एयरों स्पेस के लिए उपकरण विकसित भी करती है। कंपनी अपनी आय का करीब 4 फीसदी हिस्सा शोध और विकास में लगाती है।


साई कुमार ने कहा कि रक्षा क्षेत्र में निजी और देशी कंपनियों को बढ़वा देने की सरकार की निति का अभी थोड़ा फायदा ही दिखना शुरू हुआ लेकिन आगे इसके बड़े फायदे होंगे।


साई कुमार ने बताया कि भारत इलेक्ट्रॉनिक्स और भारत डायनामिक्स कंपनी के बड़े ग्राहक हैं। कंपनी के पास फिलहाल 96 करोड़ रुपये के ऑर्डर हैं। आगे कंपनी को बड़े ऑर्डर मिलने की उम्मीद है। कंपनी डिफेंस के अलावा नान-डिफेंस, ई-व्हीकल में बिजनेस डाइवर्सिफिकेशन पर फोकस कर रही है।