खतरे में करीब 15 लाख लोगों की नौकरी! -
Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

खतरे में करीब 15 लाख लोगों की नौकरी!

प्रकाशित Thu, 16, 2017 पर 16:28  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

दिल्ली की इंडस्ट्री और उनमें काम कर रहे करीब 15 लाख लोगों की नौकरी खतरे में है। फैक्ट्रियां बंद हो सकती हैं और लोग बेरोजगार हो सकते हैं। इंडस्ट्री के मुताबिक इसकी वजह है न्यूनतम सैलरी बढ़ाने का सरकारी फरमान।


दिल्ली में 40 साल से इलेक्ट्रिक सामान बना रहे कपिल चोपड़ा अब अपनी फैक्ट्री बंद करना चाहते हैं। दिल्ली सरकार ने कामगारों की सैलरी बढ़ाने का हुक्म दिया। ऐसे में कपिल पर सालाना 6 करोड़ तक का भार बढ़ गया है। सिर्फ कपिल ही नहीं दिल्ली में इनकी तरह करीब एक लाख इंडस्ट्रियलिस्ट अब अपनी फैक्टरी या तो बंद करने की कगार पर हैं या दिल्ली से अन्य शहरों में शिफ्ट होने पर विचार कर रहे हैं।


नए नियमों के मुताबिक दिल्ली में अकुशल कामगारों को 9724 रुपये की जगह 13,350 रुपये प्रति माह सैलरी देनी होगी। इसी तरह अर्ध कुशल कामगारों को 10,764 रुपये की जगह 14,698 रुपये और कुशल कामगारों को 11,830 रुपये की जगह 16,182 रुपये प्रति माह सैलरी देनी होगी।


अब जरा दिल्ली के आसपास न्यूनतम सैलरी की सच्चाई देखिए, गुरूग्राम में 8100 रुपये, नोएडा में करीब 7000 रुपये, राजस्थान में 5000 रुपये प्रति माह न्यूनतम सैलरी का प्रावधान है। इंडस्ट्री की ये भी शिकायत है कि नीति बनाते वक्त दिल्ली सरकार ने उनसे कोई राय भी नहीं ली।


दिल्ली सरकार का फैसला कारीगरों के लिए अच्छी खबर लेकर तो आया है लेकिन सरकार और इंडस्ट्री के लोगों के बीच का यह टकराव 15 लाख लोगों का रोजगार भी छीन सकता है।