Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

आवाज़ आंत्रप्रेन्योरः कबाड़ से कमाल का कारोबार

प्रकाशित Sat, 16, 2017 पर 12:43  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

शिपिंग कंटेनर या कहें एक आलिशान घर। कंटेनर होम्स इस विदेशी कॉन्सेप्ट को देश में मुमकिन बना रही है पुणे की इंटीरियर डिजाइनर धारा काबरिया और उनकी दोस्त सोनाली फड़के, जो धारा की बिजनेस पार्टनर हैं। इन कंटेनर होम्स में किचन, लिविंग रूम, बेडरूम, वॉशरूम और हर वो सुविधा है जो किसी अपार्टमेंट में होती है। धारा और सोनाली की कंपनी स्टूडियो ऑल्टरनेटिव्स इन्हें जरूरत और बजट के हिसाब से डिजाइन करती है।


इन कंटेनर्स का इस्तेमाल सिर्फ घर बनाने तक सीमित नहीं है। स्टूडियो ऑल्टरनेटिव्स इन कंटेनर्स में लाइब्रेरी, क्लिनिक, मशीन डिस्प्ले यूनिट, एक्टिविटी सेंटर और ऑफिस भी बना चुका है।


धारा ने अपने काम की शुरुआत 2009 में स्टूडियो ऑल्टरनेटिव्स नाम की इंटीरियर डिजाइनिंग फर्म से की। कंपनी का फोकस होम कंस्ट्रक्शंस और डिजाइन में इस्तेमाल होने वाले सामान को रीड्यूस और रीयूज करने पर था। रीयूज पर फोकस के चलते कंपनी ने 2014 में कंटेनर स्पेस का प्रोजेक्ट आगे बढ़ाया जो आज इनका रेवेन्यू जेनरेटींग वर्टिकल है, इसके अलावा कंपनी कबाड़ हुए सामान से अपके लिए खास चीजें भी बनाती है। इसके अलावा कंपनी अपने स्क्रैप लैब में ग्रुप्स, कॉरपोरेट और इंडीविजुअल के लिए रीसाइकिलिंग पर खास वर्कशॉप भी करती है।


रीसाइकिलिंग का करोबार धीरे- धीरे जोर पकड़ रहा है, लोग अब इसकी अहमियत समझने लगे हैं। इसलिए रीसाइकिल प्रोडक्ट्स की रिटेलिंग बेहतर हो रही है। कबाड़ से कमाल के कारोबार को मजबूती दी फाउंडर्स के इंटीरियर डेकोरेशन क्लाएंट्स बस ने। इंटीरियर डेकोरेशन से हुई अपने कमाई को उन्होंने इस अनप्लान्ड बिजनेस में लगाया। कंपनी ने कई उतार-चढ़ाव देखे, हर दिन नए चैलेंजेस को पार करते हुए, एक्सपरीमेंट करते-करते कारोबार को शक्ल दी। पिछले साल कंपनी ने 60 लाख का रेवेन्यू कमाया।


अब स्टूडियो ऑल्टरनेटिव्स स्क्रैप बिजनेस पर फोकस कायम रखते हुए, इसे कम्युनिटी की तर्ज पर फैलाना चाहती है। इसके लिए इन्हें पार्टनर्स की तलाश है। साथ ही कंटेनर स्पेस और इसके अलावा बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन के अलग-अलग तरीके जैसे मड आर्किटेक्चर, अर्थ रैम्ड, टायर क्रिएशन में कंपनी हाथ आजमाएगी। कबाड़ को बेहतरीन कलाकृति में ढालते हुए कारोबार को नई उंचाईयों पर ले जाना ही इनका लक्ष्य है।