Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

क्यों इतनी खराब हो रही फार्मा कंपनियों की हालत!

प्रकाशित Fri, 04, 2017 पर 11:33  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

फार्मा शेयरों की सेहत में सुधार होता नहीं दिख रहा है। अमेरिकी दवा रेगुलेटर से लगातार मुश्किलों का सामना कर रही दिग्गज फार्मा कंपनियों का मार्केट कैप पिछले कुछ ही महीनों में आधा हो गया है।


सन फार्मा की सब्सिडियरी टेवा का अमेरिकी कारोबार में शेयर 24 फीसदी लुढ़क गया है। टेवा, जेनरिक दवा बनाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी है। अमेरिका में जेनरिक कारोबार कमजोर रहने से टेवा के नतीजे खराब रहे हैं। टेवा की ऑपरेटिंग कैश फ्लो 140 करोड़ डॉलर घटाने की योजना है। टेवी की अगले 2 साल में 7000 कर्मचारियों की छंटनी और 15 फैक्ट्री बंद करने की भी योजना है।


डॉ रेड्डीज की जून तिमाही में उत्तरी अमेरिका से बिक्री 4 फीसदी घटकर 1494.6 करोड़ रुपये रही है। डॉ रेड्डीज की कुल बिक्री का 45 फीसदी हिस्सा उत्तरी अमेरिका से आता है। अमेरिका में अभी कीमतों पर दबाव बने रहने की आशंका है। जून तिमाही में डॉ रेड्डीज का मार्जिन 10.1 फीसदी रहा, जबकि आगे के मार्जिन पर साफ गाइडेंस भी नहीं दिया है।


ल्यूपिन की जून तिमाही में उत्तरी अमेरिका से बिक्री 26.8 फीसदी घटकर 1602 करोड़ रुपये रही है। ल्यूपिन की कुल बिक्री का 42 फीसदी हिस्सा उत्तरी अमेरिका से आता है। ल्यूपिन का कंसोलिडेटेड मार्जिन 29.34 फीसदी से घटकर 19.86 फीसदी रहा है। ल्यूपिन ने वित्त वर्ष 2018 में आय सपाट रहने या हल्की गिरावट का अनुमान दिया है। ल्यूपिन ने मार्जिन गाइडेंस 24-26 फीसदी से घटाकर 21-23 फीसदी किया है।


जून तिमाही में टॉरेंट फार्मा की अमेरिकी कारोबार से आय 37 फीसदी घटकर 272 करोड़ रुपये रही है। टॉरेंट फार्मा का कंसोलिडेटेड मार्जिन 28.2 फीसदी से घटकर 21.6 फीसदी रहा है। टॉरेंट फार्मा के मैनेजमेंट ने अमेरिका में कीमतों पर दबाव को चिंताजनक बताया है।


फार्मा कंपनियों के वैल्युएशन पर नजर डालें तो जीएसके फार्मा का 5 साल का औसत पीई रेश्यो 67.1 रहा है, जबकि वित्त वर्ष 2018 के लिए पीई रेश्यो 48.3 पर है। सन फार्मा का 5 साल का औसत पीई रेश्यो 36.5 रहा है, जबकि वित्त वर्ष 2018 के लिए पीई रेश्यो 19 पर है। ग्लेनमार्क फार्मा का 5 साल का औसत पीई रेश्यो 29.7 रहा है, जबकि वित्त वर्ष 2018 के लिए पीई रेश्यो 16.8 पर है।


ल्यूपिन का 5 साल का औसत पीई रेश्यो 27.3 रहा है, जबकि वित्त वर्ष 2018 के लिए पीई रेश्यो 16.5 रहने पर है। सिप्ला का 5 साल का औसत पीई रेश्यो 33.6 रहा है, जबकि वित्त वर्ष 2018 के लिए पीई रेश्यो 25.5 पर है। बायोकॉन का 5 साल का औसत पीई रेश्यो 20.6 रहा है, जबकि वित्त वर्ष 2018 के लिए पीई रेश्यो 15.5 पर है। अरविंदो फार्मा का 5 साल का औसत पीई रेश्यो 22.5 रहा है, जबकि वित्त वर्ष 2018 के लिए पीई रेश्यो 18.5 पर है।