Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

बढ़ रही है कमर्शियल रियल एस्टेट की मांग

प्रकाशित Wed, 11, 2017 पर 15:06  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

कमर्शियल रियल एस्टेट की मांग बढ़ रही है। ऐसे में कमर्शियल सेगमेंट में आगे अच्छा एक्शन देखने को मिल सकता है। रेजिडेंशियल की बजाय अब कमर्शियल पर फोकस ज्यादा बढ़ रहा है। बड़े शहरों में प्रीमियम ऑफिस स्पेस की कमी है। जनवरी-जून 17 में 8 बड़े शहरों में सप्लाई 50 फीसदी घटी है। फंडिंग और नए निवेश में तेज ग्रोथ की उम्मीद है। मैन्युफैक्चरिंग, लॉजिस्टिक्स, रिटेल की तरफ से कमर्शियल स्पेस की मांग बढ़ रही है।


डीएलफ को इन स्थितियों में अच्छा फायदा हो सकता है। डीएलएफ कमर्शियल रियल एस्टेट सेगमेंट की सबसे बड़ी कंपनी है। चालू वित्त वर्ष में कंपनी को 3000 करोड़ रुपये की रेंटल इनकम की उम्मीद है। 40 लाख वर्गफुट के कमर्शियल प्रोजेक्ट पर कंपनी का काम जारी है। जीआईसी की डील से कंपनी का कर्ज भी 10 हजार करोड़ रुपये कम होगा।


कमर्शियल रियल एस्टेट की मांग से प्रेस्टिज एस्टेट को भी फायदा हो सकता है। ये बंगलुरू की रियल एस्टेट कंपनी है


प्रेस्टीज एस्टेट की 20 करोड़ डॉलर निवेश के लिए कनाडा के पेंशन फंड से बात चल रही है। अगले 4 साल में कंपनी की रेंटल आय दोगुनी होने का अनुमान है।
फिलहाल 700 करोड़ रुपये रेंटल आय 2020 तक 1200 करोड़ रुपये हो जाने की उम्मीद है।