Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

गुमराह कर रहे हैं बिल्डर्स, कब मिलेगा घर खरीदारों को घर!

प्रकाशित Tue, 12, 2017 पर 19:06  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

यूपी में रेरा लागू होने के बाद होम बायर्स को उम्मीद थी कि उन्हें घर जल्दी मिलेगा लेकिन हकीकत कुछ और ही है। दरअसल बिल्डर्स प्रोजेक्ट की डिलिवरी की तारीख में हेराफेरी कर रहे हैं इससे घर खरीदारों की परेशानी खत्म ही नहीं हो रही है।


उत्तर प्रदेश में रेरा तो लागू हो गया लेकिन बिल्डर्स इसमें भी हेराफेरी करने लगे हैं। पजेशन में पहले से ही देरी कर चुके बिल्डर्स अब रेरा में डिलिवरी की तारीख और आगे बढ़ाकर दिखा रहे हैं।  नोएडा के जेपी के जेपी ग्रीन केंसिंग्टन अपार्टमेंट्स प्रोजेक्ट पूरा करने के लिए घर खरीदारों को अगस्त 2013 का वक्त दिया था जब रेरा में इसकी तारीख दिसंबर 2019 बताया गया। इसी तरह नोएडा एक्सटेंशन के 14 अवेन्‍यू (ग्रुप हाउसिंग) गौड़ सिटी प्रोजेक्‍ट पूरा होने का साल 2017 है लेकिन रेरा में इसे 2023 बताया गया है। ऐसे ही कई और अधूरे प्रोजेक्ट इस लिस्ट में शामिल है। लेकिन एनसीआर में रियल एस्टेट की संस्था क्रेडाई का कहना है कि बिल्डर रेरा के नियमों का पूरा पालन कर रहे हैं। 


दरअसल, रेरा में जो प्रोजेक्ट पहले से ही 5 से 7 साल की देरी से चल रहे हैं वो प्रोजेक्ट कब तक पूरे होंगे उसको लेकर कोई सफाई नहीं है। 


ऐसे में अब बायर्स ने खुद रास्ता निकाला है। फेडरेशन ऑफ अपार्टमेंट ऑनर्स ऐसोसिएशन ने एक वेबसाइट बनाई हैं जहा घर खरीदारों से डाटा लिया जा रहा है ताकि बिल्डर्स के खिलाफ इसे रेरा में सबूत के तौर पर पेश किया जा सके।