Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

खत्म होगा एनपीए का सिरदर्द, आएंगे सरकारी बैंकों के अच्छे दिन!

प्रकाशित Fri, 12, 2017 पर 13:07  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बैंकों को कर्ज से मुक्ति दिलाने के लिए सरकार ने कानून में ही बदलाव कर दिया है। ये बदलाव अध्यादेश के जरिए नोटिफाई कर दिए गए हैं। बैंकिंग कानून में दो अहम बदलाव करते हुए रिजर्व बैंक को सर्वशक्तिमान बना दिया गया है, ऐसे लगता है कि सरकार की मंशा सरकारी बैंकों के कायाकल्प की है और इसके गंभीर प्रयास नजर भी आ रहे हैं। आज हम इस खास चर्चा में ये बताएंगे कि बाजार की उपेक्षा झेल रहे सरकारी बैंकों में निवेश आपको कितनी जबरदस्त कमाई कर सकता है, हम आपको ये भी बताएंगे कि कौनसे सरकारी बैंकों में निवेश करें।


एनपीए पर बड़े कदम उठाते हुए आरबीआई को डिफॉल्टर्स के खिलाफ एक्शन की ज्यादा ताकत दी गई है। बैंकिंग रेगुलेशन एक्ट में धारा 35एए और 35एबी जोड़ी गई है। आरबीआई बैंकों को दिवालिया प्रक्रिया शुरू करने को कह सकेगा। आरबीआई बैंकों को सलाह देने के लिए समितियां बना सकेगा और अलग-अलग सेक्टर के लिए समितियां बनाई जा सकेंगी।


दरअसल बैंकों के करीब 9.6 लाख करोड़ रुपये के कर्ज डूबे हुए हैं और देश के कुल कर्ज का करीब 10 फीसदी खतरे में है। क्रेडिट सुईस के मुताबिक 17 फीसदी कॉरपोरेट लोन खतरे में हैं, जबकि फिच का कहना है कि डूबे कर्ज की दिक्कत और बढ़ने की आशंका है।


मार्च तिमाही में यूनियन बैंक का ग्रॉस एनपीए 33712 करोड़ रुपये रहा है, जबकि तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में बैंक का ग्रॉस एनपीए 11.70 फीसदी से घटकर 11.17 फीसदी रहा है। मार्च तिमाही में केनरा बैंक का ग्रॉस एनपीए 34202 करोड़ रुपये रहा है, जबकि तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में बैंक का ग्रॉस एनपीए 9.97 फीसदी से घटकर 9.63 फीसदी रहा है।


मार्च तिमाही में सिंडिकेट बैंक का ग्रॉस एनपीए 17609 करोड़ रुपये रहा है, जबकि तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में बैंक का ग्रॉस एनपीए 8.69 फीसदी से घटकर 8.50 फीसदी रहा है। मार्च तिमाही में विजया बैंक का ग्रॉस एनपीए 6382 करोड़ रुपये रहा है, जबकि तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में बैंक का ग्रॉस एनपीए 6.98 फीसदी से घटकर 6.59 फीसदी रहा है।


मार्च तिमाही में बैंक ऑफ महाराष्ट्र का ग्रॉस एनपीए 17188 करोड़ रुपये रहा है, जबकि तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में बैंक का ग्रॉस एनपीए 15.08 फीसदी से बढ़कर 16.93 फीसदी रहा है। मार्च तिमाही में देना बैंक का ग्रॉस एनपीए 12618 करोड़ रुपये रहा है, जबकि तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में बैंक का ग्रॉस एनपीए 14.8 फीसदी से बढ़कर 16.3 फीसदी रहा है। मार्च तिमाही में इंडियन बैंक का ग्रॉस एनपीए 9865 करोड़ रुपये रहा है, जबकि तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में बैंक का ग्रॉस एनपीए 7.69 फीसदी से घटकर 7.47 फीसदी रहा है।


मार्च तिमाही में आईसीआईसीआई बैंक का ग्रॉस एनपीए 42551 करोड़ रुपये रहा है, जबकि तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में बैंक का ग्रॉस एनपीए 7.20 फीसदी से बढ़कर 7.89 फीसदी रहा है। मार्च तिमाही में एचडीएफसी बैंक का ग्रॉस एनपीए 5885 करोड़ रुपये रहा है, जबकि तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में बैंक का ग्रॉस एनपीए बिना बदलाव के 1.05 फीसदी पर बरकरार रहा है।


मार्च तिमाही में कोटक महिंद्रा बैंक का ग्रॉस एनपीए 3578 करोड़ रुपये रहा है, जबकि तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में बैंक का ग्रॉस एनपीए 2.42 फीसदी से बढ़कर 2.59 फीसदी रहा है। मार्च तिमाही में एक्सिस बैंक का ग्रॉस एनपीए 21280 करोड़ रुपये रहा है, जबकि तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में बैंक का ग्रॉस एनपीए 5.22 फीसदी से घटकर 5.04 फीसदी रहा है।


मार्च तिमाही में यस बैंक का ग्रॉस एनपीए 2018 करोड़ रुपये रहा है, जबकि तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में बैंक का ग्रॉस एनपीए 0.85 फीसदी से बढ़कर 1.52 फीसदी रहा है। मार्च तिमाही में इंडसइंड बैंक का ग्रॉस एनपीए 1054 करोड़ रुपये रहा है, जबकि तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में बैंक का ग्रॉस एनपीए 0.94 फीसदी से घटकर 0.93 फीसदी रहा है।


मार्च तिमाही में आरबीएल बैंक का ग्रॉस एनपीए 356 करोड़ रुपये रहा है, जबकि तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में बैंक का ग्रॉस एनपीए 1.1 फीसदी से बढ़कर 1.2 फीसदी रहा है। मार्च तिमाही में फेडरल बैंक का ग्रॉस एनपीए 1727 करोड़ रुपये रहा है, जबकि तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में बैंक का ग्रॉस एनपीए 2.77 फीसदी से घटकर 2.33 फीसदी रहा है।


मार्च तिमाही में लक्ष्मी विलास बैंक का ग्रॉस एनपीए 640 करोड़ रुपये रहा है, जबकि तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में बैंक का ग्रॉस एनपीए 2.78 फीसदी से घटकर 2.67 फीसदी रहा है। मार्च तिमाही में आईडीएफसी बैंक का ग्रॉस एनपीए 1542 करोड़ रुपये रहा है, जबकि तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में बैंक का ग्रॉस एनपीए 7.03 फीसदी से घटकर 2.99 फीसदी रहा है।