Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

शिकायतों का नहीं मिला जवाब तो भड़के मंत्री

प्रकाशित Tue, 16, 2017 पर 10:39  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

मोदी सरकार के तीन साल पूरे होने पर हर मंत्रालय अपने अच्छे काम गिना रहा है। इस बार रामविलास पासवान की बारी थी। प्रेस कॉन्फ्रेंस में मंत्री जी अच्छी-अच्छी बातें कर रहे थे, तभी किसी ने पूछा डुअल एमआरपी कब खत्म होगा। मंत्री जी के पास जवाब तो था नहीं, लगे अफसरों को झाड़ने।


एक अरसा हुआ सरकार ने फरमान जारी किया कि एक सामान है तो एक दाम होना चाहिए। लेकिन उपभोक्ता मंत्रालय की वेबसाइट पर हर रोज शिकायतें आती हैं कि एक ही सामान के कई दाम वसूले जा रहे हैं। मोदी सरकार के 3 साल में अपने मंत्रालय के कामकाज का बखान करने आए उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान का सामना जब इस सवाल से हुआ था तो अफसरों पर ठीकरा फोड़ दिया।


जाहिर है दिल्ली की मीनारों से निकलने वाले सरकारी फरमान जमीन पर आते-आते अब भी दम तोड़ रहे हैं। अब देखिए सरकार ने किसानों की मदद के लिए चावल और गेहूं की तरह पहली बार दालों का भी बफर स्टॉक बनाया। इस स्टॉक में 18 लाख टन से ज्यादा दाल जमा है। अब दालों की कीमत इतनी गिर गई कि इस स्टॉक से कोई दाल लेने को तैयार नहीं।


रामविलास पासवान ने दावा किया कि उनके मंत्रालय ने करीब 70 फीसदी पीडीएस दुकानों को आधार से लिंक कर दिया है। इतना ही नहीं 5 लाख में से आधी दुकानों पर पीओएस भी मुहैया करा दिए गए हैं।