Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

कॉर्पोरेट इंडिया का रिपोर्ट कार्ड: कौन पास, कौन फेल

प्रकाशित Fri, 18, 2018 पर 13:18  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

चौथी तिमाही के इम्तिहान खत्म होने को है। परीक्षा में कुछ कंपनियां तो अब्वल नंबर से पास हुई लेकिन कुछ ऐसी भी निकली जो फेल हो गई हैं। यहां तक तो बात ठीक है लेकिन कुछ कंपनियां ऐसी थी जिनके नतीजे देखकर ही बाजार का मूड ही खराब हो गया। सीएनबीसी-आवाज़ अपनी इस खास पेशकश गुड, बैड, अगली में कॉरपोरेट इंडिया का रिपोर्ट कार्ड पेश कर रहे हैं। ये शो देखने के बाद आप को पता चल जाएगा कि किन कंपनियों को गले लगाने का वक्त है और किन को अपने पोर्टफोलियो से विदा करने का।


एम्फेसिस: (गुड)


एम्फेसिस के लिए चौथी तिमाही बेहद मजबूत रही है। तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में कंपनी की आय में 4.4 फीसदी का उछाल आया है। लगातार चार तिमाहियों से कंपनी अच्छे नतीजे दे रही है। वित्त वर्ष 2018 की ग्रोथ 11 फीसदी के पार है। चौथी तिमाही में मार्जिन में भी 1.3 फीसदी का उछाल देखने को मिला है। एम्फेसिस को आगे भी अच्छे दिन देखने को मिलेंगे। कंपनी के मैनेजमेंट को एचपी और ब्लैकस्टोन पोर्टफोलियों कंपनियों से अच्छे बिजनेस की उम्मीद है।


एचसीएल टेक: (अगली)


कंपनी के लिए चौथी तिमाही बेहद कमजोर रही है। गाइडेंस भी बेहद खराब हैं। तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में सिर्फ 1.2 फीसदी ग्रोथ देखने को मिली है। वित्त वर्ष 2018 में महज 10.5 फीसदी ग्रोथ की गाइडेंस है। वित्त वर्ष 2019 की गाइडेंस भी निराशाजनक है। वित्त वर्ष 2019 में 9.5-11.5 फीसदी ग्रोथ की उम्मीद है।


एचयूएल: स्टॉक में है दम (गुड)


चौथी तिमाही में एचयूएल ने शानदार नतीजे दिए हैं। इस तिमाही में 11 फीसदी की दमदार वॉल्यूम ग्रोथ देखने को मिली है। इस तिमाही में एबिटडा मार्जिन भी 20.1 फीसदी से बढ़कर 22.5 फीसदी रही है। मैनेजमेंट को आगे तगड़ी ग्रोथ की उम्मीद है।


टाटा कॉफी: बिगड़ा टेस्ट (अगली)


चौथी तिमाही में टाटा कॉफी ने बेहद खराब नतीजे दिए हैं। इस अवधि में कंपनी की मार्जिन  66 फीसदी से कम होकर 44 फीसदी रही है। कंपनी के मुनाफए में भी 86 फीसदी की जोरदार गिरावट देखने को रही है। खराब मौसम से आगे भी स्वाद कड़वा होने की उम्मीद है।


पीवीआर की पिक्चर परफेक्ट: (गुड)


चौथी तिमाही में पीवीआर की आय में 21.2 फीसदी की दमदार ग्रोथ देखने को मिली है। इस तिमाही मं कंपनी घाटे से मुनाफे में आई है। इस अवधि में कंपनी का एबिटडा दोगुना हुआ है और मार्जिन में भी जबरदस्त उछाल देखने को मिला है।


एवेन्यू सुपरमार्ट: जोश पड़ा ठंडा


कंपनी नें चौथी तिमाही में कमजोर नतीजे पेश किए हैं। ग्रोथ उम्मीद से कम रही है।


जुबिलेंट फूड: दिल को भाया (गुड)


जुबिलेंट फूड ने चौथी तिमाही में शानदार नतीजे पेश किए हैं। इस अवधि में कंपनी की कुल आय 27.3 फीसदी बढ़ी है जबकि मुनाफे में 900 फीसदी का जबरदस्त उछाल आया है, एबिटडा भी 111 फीसदी उछला है। वहीं, मार्जिन 9.9 फीसदी से बढ़कर 16.4 फीसदी हो गया है। पुराने स्टोर्स ग्रोथ 6 साल में सबसे ज्यादा रही है।


इंटरग्लोब एविएशन: पंख कतरे


चौथी तिमाही में इंटरग्लोब एविएशन का प्रदर्शन खराब रहा है। फ्यूल लागत बढ़ने से इसकी मुश्किल बढ़ी है। चौथी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 73 फीसदी लुढ़का है। वहीं मार्जिन 27.5 फीसदी से कम होकर 19.4 फीसदी पर आ गई। महंगा कच्चा तेल कंपनी पर भारी पड़ेगा।


पीएनबी: भरोसे के काबिल नहीं


पीएनबी की साख पर बट्टा लगा है। चौथी तिमाही में ग्रॉस एनपीए 12.11 फीसदी से बढ़कर 18.38 फीसदी पहुंच गया। इस अवधि में एनआईएम अब तक की सबसे कम 1.9 फीसदी पर रही है। चौथी तिमाही में पीएनबी को 262 करोड़ रुपये के मुनाफे के मुकाबले 13500 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। करीब 31000 करोड़ रुपये के नए एनपीए भी सामने आए हैं।


बजाज फिनसर्व: बढ़ता भरोसा (गुड)


चौथी तिमाही में बजाज फिनसर्व का एनआईआई 40 फीसदी और मुनाफा 60.5 फीसदी बढ़ा है। वहीं, ग्रॉस एनपीए 1.67 फीसदी से कम होकर 1.48 फीसदी रही है।