Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

दिल्ली में बिना पटाखों की दिवाली, कितना घटेगा प्रदूषण!

प्रकाशित Mon, 09, 2017 पर 18:33  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

इस बार दिल्ली-एनसीआर में दिवाली बिना पटाखे वाली मनेगी, मतलब सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली-एनसीआर में पटाखों की बिक्री पर बैन लगा दिया है। यानि 19 अक्टूबर को दिवाली पर पटाखों की बिक्री नहीं होगी । हालांकि जिन लोगों ने पहले से पटाखे खरीद लिए हैं वो पटाखे जला सकेंगे। सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली-एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण पर लगाम कसने के लिए ये फैसला सुनाया है।


दरअसल सुप्रीम कोर्ट देखना चाहता है कि पटाखों के कारण प्रदूषण पर कितना असर पड़ता है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि पटाखों की बिक्री 1 नवंबर 2017 से दोबारा शुरू हो सकेगी। सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल नवंबर में पटाखों की बिक्री पर बैन लगा दिया था। लेकिन 12 सितंबर 2017 को पटाखों की बिक्री से बैन हटा लिया था।


उधर पटाखे बेचने वाले दुकानदारों का कहना है कि पटाखों पर बैन लगाना तो ठीक है लेखिन इसके लिए उन्हें थोड़ा समय मिलना चाहिए था।


बता दें कि दिवाली आयी नहीं है लेकिन दिल्ली का दम अभी से ही घुटने लगा है। राजधानी के अधिकतर प्रदूषण मॉनिटरिंग सेंटर में आकंड़ा खतरे की चेतावनी दे रहा है। दिल्ली के पांडव नगर में मुर्तियां बनाने वाले ये कलाकार सड़क के किनारे ही जिन्दगी बसर करते हैं। आमतौर पर सर्दियां आने पर प्रदूषण बढता है और इन्हें सांस लेने में दिक्कत होने लगती है। मगर इस बार अभी से ही ये शिकायत कर रहे हैं। राजधानी के बड़े अस्पतालों में भी सांस की तकलीफ के मामले बढ़ने लगे हैं।


राजधानी में प्रदूषण की मॉनीटरिंग कर रहे स्टेशन बता रहे हैं कि हालात खतरे के निशान तक पहुंच चुकी है। शुक्रवार की दोपहर द्वारका और आनंद विहार में प्रदूषण खतरनाक की स्थिति पर था तो शादीपुर में बहुत खराब और आईटीओ पर खराब।