Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

ई-व्हीकल्स की कम बिक्री से सरकार परेशान

प्रकाशित Fri, 11, 2018 पर 08:56  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

इस साल अप्रैल में ऑटो सेक्टर की रफ्तार शानदार रही है कमर्शियल और टू व्हीलर की रिकॉर्डतोड़ बिक्री हुई है तो वहीं दूसरी तरफ सरकार की महत्वकांक्षी योजना इलेक्ट्रिक गाड़ियों की बिक्री बढ़ नहीं रही है। सरकार इससे परेशान होकर अब कैब एग्रीगेटर्स के भरोसे है। अब ओला, उबर जैसे कैब एग्रीगेटर्स के भरोसे इसे आगे बढ़ाना चाहती है। सूत्रों की माने तो सड़क परिवहन मंत्रालय कैब एग्रीगेटर को अपनी फ्लीट में कम से कम एक फीसदी इलेक्ट्रिक गाड़ियों को रखना जरूरी करेगा। इसके लिए कैब एग्रीगेटर गाइडलाइन्स भी बदली जाएगी।


ओला के पास फिलहाल 200 ई-व्हीकल हैं। ओला के पास अभी 9 लाख से ज्यादा गाड़ियां हैं। इस नियम के बाद ओला को 9,000 ई-व्हीकल रखने होंगे। वहीं, उबर के पास करीब 6 लाख गाड़ियां हैं। नियम के बाद उबर को 6000 ई-व्हीकल रखने होंगे। इसके लिए उबर ने महिंद्रा से ई-व्हीकल के लिए करार किया है। भारत में अब तक सिर्फ 6000 इलेक्ट्रिक कारें बिकी हैं। वहीं, 2017-18 में सिर्फ 1200 इलेक्ट्रिक कारें बिकी थी।