Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

जीएसटीः डाई और केमिकल डीलर में घबराहट

प्रकाशित Thu, 15, 2017 पर 19:24  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

डाई और केमिकल डीलर जीएसटी से घबराए हुए हैं। एक्साइज ड्यूटी देने के बाद भी इन्हें पुराने स्टॉक पर जीएसटी चुकानी होगी। इस दोहरे कर का रिफंड तो मिलेगा लेकिन कुछ समय के लिए पूंजी फंसने का डर है।


एक्साइज ड्यूटी चुका दी लेकिन पुराना स्टॉक बिका नहीं। अब जीएसटी लागू हो गया तो उस पर नया टैक्स भी देना होगा। चुकाई गई ड्यूटी की रसीद है तो रिफंड पूरा मिलेगा लेकिन अगर रसीद नहीं तो रिफंड 40 से 60 फीसदी ही मिलेगा। दोनों ही स्थितियों में डीलरों को पूंजी फंसने का डर है।


डीलरों का कहना है कि एक तो उन्हें माल बिकने पर पेमेंट मिलने में तीन से चार महीने लग जाते हैं। दूसरा रिफंड में भी देरी होगी। लिहाजा अब वो माल उठाने में डर रहे हैं। हालत ऐसी है कि बड़ी कंपनियों को भी धंधा मंदा होने का डर सता रहा है।


नियम के मुताबिक 18 फीसदी से ऊपर के स्लैब वाले प्रोडक्ट पर सीजीएसटी का 60 फीसदी और 18 फीसदी से नीचे वाले स्लैब के सभी प्रोडक्ट पर सीजीएसटी का 40 फीसदी एक्साइज रिफंड मिलेगा।


डाइज और केमिकल के डीलर्स के गोदाम स्टॉक से भरे पड़े है यह माल तो बिक नहीं रहा है ऊपर से कई कंपनियां कोई न कोई बहाने से अपना स्टॉक इनको वापस भेज रही है। जो यह लोग मैन्युफैक्चरर को वापस नहीं भेज पाते है यह डीलर्स चाहते है की केंद्र सरकार उनके एक्साइज रिफंड के लिए कोई अच्छे कदम उठाये।