ई-वॉलेट के लिए अब केवाईसी होगा जरूरी -
Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

ई-वॉलेट के लिए अब केवाईसी होगा जरूरी

प्रकाशित Wed, 19, 2017 पर 15:22  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

ई-वॉलेट में आपके पैसे की पूरी सुरक्षा अभी एक चुनौती बनी हुई है। इसीलिए आरबीआई अब वॉलेट ग्राहकों की केवाईसी अनिवार्य करने जा रही है। लगे हाथ कंपनियों ने भी आरबीआई से इंटरपोर्टेबिलिटी की मांग रख दी है। इसमें आपका क्या फायदा है, ये बता रही हैं संवाददाता निधि राय।


हो सकता है कि जल्दी ही आपको एक ई-वॉलेट से दूसरे ई-वॉलेट में पैसे भेजने की सुविधा मिले। वॉलेट कंपनियों ने आरबीआई से इसकी छूट मांगी है। दरअसल, आरबीआई ने ई-वॉलेट और एम-वॉलेट ग्राहकों की अनिवार्य केवाईसी के लिए ड्राफ्ट गाइडलाइंस जारी की है। अब कंपनियां कह रही हैं कि केवाईसी करवाने में उन्हें प्रति ग्राहक 150-200 रुपये खर्च करने पड़ेंगे, इसलिए उन्हें इंटरपोर्टेबिलिटी यानि बैंकों की तरह एक से दूसरे वॉलेट के बीच ट्रांजैक्शन की छूट मिले। इससे व्यापारियों और ग्राहकों को भी फायदा होगा।


कंपनियां केवाईसी के लिए और वक्त मांग रही हैं और इसी बहाने अपने कारोबार का दायरा भी बढ़ाना चाहती हैं। लेकिन जानकारों का मानना है कि इंटर्पोर्टेबिलिटी पर फैसला करने से पहले सुरक्षा के तमाम पहलुओं को भी देखना होगा और आरबीआई भी तमाम स्टेकहोल्डर्स के साथ बात करके ही फैसला करेगा।


डिजिटल इकोनॉमी में ई-वॉलेट जैसे टूल्स दोधारी तलवार की तरह हैं, जिनमें सुरक्षा और सुविधा दोनों का बराबर ख्याल रखना जरूरी है। कोई जरूरी नहीं है कि केवाईसी के बदले कंपनियों को इंटरपोर्टेबिलिटी मिल जाए, लेकिन अगर आरबीआई को इसमें कोई बड़ा पेंच नहीं दिखा तो ये भी जल्द हकीकत बन सकता है।