Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

आतंकवाद के खिलाफ मोदी ने दुनिया को दिया एजेंडा

प्रकाशित Sat, 08, 2017 पर 12:57  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत जी-20 देश के नेताओं ने आतंकवाद की समस्या से निपटने के लिए मिलजुल कर प्रयास करने की बात की है। जी-20 समिट को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुनिया को आतंकवाद के खिलाफ 11 मंत्र दिए हैं। मोदी ने कहा कि कुछ देश आतंकवाद का इस्तेमाल सियासी फायदे के लिए कर रहे हैं। मोदी ने अपील की कि जी-20 के सदस्य, ऐसे देशों के खिलाफ एकजुट हो जाएं। इस बीच सीमा विवाद के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच चार-पांच मिनट बात हुई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्रिक्स की मुहिम को कामयाब बनाने में चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के प्रयासों की सराहना की। इसके तुरंत बाद मंच संभालने वाले जिनपिंग ने भी आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई और आर्थिक तरक्की के लिए भारत की तारीफ की। इससे पहले मोदी ने कहा कि दक्षिण एशिया में एक देश आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है। उनका साफ इशारा पाकिस्तान की तरफ था।


मोदी ने लश्कर-ए-तैयब और जैश-ए-मोहम्मद की तुलना आईसीस और अल कायदा से की उन्होंने कहा कि इनके नाम भले अलग हों लेकिन इनकी सोच एक ही है। मोदी ने विश्व के सबसे ताकतवर नेताओं अमेरिका, चीन और रूस के राष्ट्रपतियों के सामने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ एक्शन कमजोर है। मोदी ने इस मौके पर आतंकवाद के खिलाफ 11 एक्शन प्वाइंट पेश किया। इनमें आतंकवाद का समर्थन करने वाले देशों के अफसर जी 20 में बैन हों, संदिग्ध आतंकवादियों की लिस्ट जी 20 देश साझा करें, कानूनी प्रक्रिया जैसे कि प्रत्यर्पण आसान हो, अंतर्राष्ट्रीय आतंकवाद पर व्यापक सम्मेलन जल्द हो, यूएन सिक्योरिटी काउंसिल जैसी संस्थाओं को प्रभावी बनाया जाए, कट्टरता के खिलाफ साझा प्रयास हों, कट्टरता के खिलाफ अच्छी कोशिशों को साझा करें, आतंकवादियों को फंडिंग रोकी जाए, आतंकवादियों को हथियारों की सप्लाई पर रोक लगे, सदस्य देशों में साइबर सिक्योरिटी में सहयोग हो और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों का तंत्र बने जैसी चीजें हैं।