Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

निफ्टी 10600 के करीब, सेंसेक्स 125 अंक गिरा

प्रकाशित Fri, 12, 2018 पर 12:57  |  स्रोत : Moneycontrol.com

दोपहर 12:55 बजे


सुप्रीम कोर्ट के सीटिंग जजों की प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद बाजार में दबाव बढ़ गया है। निफ्टी 10,600 के नीचे फिसल गया जबकि सेंसेक्स में 100 अंकों से ज्यादा की गिरावट देखने को मिली है। वैसे घरेलू बाजारों ने आज भी फिर नए रिकॉर्ड स्तरों पर दस्तक दी। निफ्टी 10,690.25 के नए रिकॉर्ड उच्चतम स्तर पर पहुंचने में कामयाब हुआ है जबकि सेंसेक्स 34,638.42 के नए रिकॉर्ड ऊपरी स्तर पर पहुंचा है। फिलहाल सेंसेक्स और निफ्टी में 0.25 फीसदी की गिरावट के साथ कारोबार देखने को मिल रहा है।


मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में भी बिकवाली देखने को मिली है। बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 0.7 फीसदी तक गिरा है। निफ्टी के मिडकैप 100 इंडेक्स में भी 0.8 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। बीएसई का स्मॉलकैप इंडेक्स 0.6 फीसदी तक कमजोर हुआ है।


एफएमसीजी, आईटी, फार्मा, पीएसयू बैंक, रियल्टी और पावर शेयरों में बिकवाली देखने को मिल रही है। बैंक निफ्टी 0.3 फीसदी गिरकर 25,600 के नीचे फिसल गया है। फिलहाल बीएसई का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 74 अंक यानि 0.2 फीसदी की गिरावट के साथ 34,430 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। एनएसई का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 30 अंक यानि 0.3 फीसदी गिरकर 10,622 के स्तर पर कारोबार कर रहा है।


बाजार में कारोबार के इस दौरान दिग्गज शेयरों में इंडियाबुल्स हाउसिंग, भारती एयरटेल, यूपीएल, अदानी पोर्ट्स, ल्यूपिन, बजाज ऑटो, अदानी पोर्ट्स, टीसीएस और आईटीसी 1.5-1.2 फीसदी तक गिरे हैं। हालांकि दिग्गज शेयरों में जी एंटरटेनमेंट, वेदांता, आईसीआईसीआई बैंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज, मारुति सुजुकी, एचडीएफसी और इंडसइंड बैंक 1.9-0.4 फीसदी तक बढ़े हैं।


मिडकैप शेयरों में सन टीवी, टाटा ग्लोबल, ब्लू डार्ट, एम्फैसिस और टोरेंट पावर 2.3-1.5 फीसदी तक बढ़े हैं। हालांकि मिडकैप शेयरों में अदानी पावर, ओबेरॉय रियल्टी, रिलायंस कम्युनिकेशंस, आईडीएफसी बैंक और जीएमआर इंफ्रा 3.5-2.5 फीसदी तक लुढ़के हैं।


स्मॉलकैप शेयरों में उत्तम गाल्वा, किंगफा साइंस, केईआई इंडस्ट्रीज, गुजरात पीपावाव और डेन नेटवर्क्स 15.75-7.8 फीसदी तक उछले हैं। हालांकि स्मॉलकैप शेयरों में डिश टीवी, नागार्जुना फर्टिलाइजर्स, क्यूपिड, मैक्नली भारत और ओरिएंट पेपर 5.7-5 फीसदी तक टूटे हैं।