Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

पहला कदम सीजन-2: कम उम्र में ही लें हेल्थ इंश्योरेंस

प्रकाशित Sun, 12, 2017 पर 17:35  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

अगर आप लाइफ इंश्योरेंस खरीदने वाले हैं या फिर आप खरीद चुके हैं तो आज का पहला कदम सीजन-2 का ये एपीसोड आपके लिए एकदम सही साबित होगा क्योंकि आज यहां आपको लाइफ इंश्योरेंस की वे बारीकियां बताई जाएंगी जो हरेक पॉलिसी होल्डर को चाहे खरीदने के पहले, खरीदने के बाद या फिर क्लेम करते वक्त पता होना चाहिए। आपकी इंश्योरेंस पॉलिसी से जुड़े हर सवाल का जवाब देने के लिए हमारे साथ हैं मैक्स लाइफ इंश्योरेंस के सीएफओ और सीनियर डायरेक्टर प्रशांत त्रिपाठी।


प्रशांत त्रिपाठी का कहना है कि इंश्योरेंस लेते समय सबसे पहले ये समझ लें कि आप जो पॉलिसी ले रहे हैं उसके बानिफिट क्या हैं। आप जो प्रोडक्ट ले रहे हैं उसके बारे में पूरी जानकारी लें। इंश्योरेंस में पार्टिसिपेटिंग और नॉन-पार्टिसिपेटिंग दो कटेगरी होती है।  पार्टिसिपेटिंग पॉलिसी में मुनाफे का 90 फीसदी कस्टमर को मिलता है।


प्रशांत त्रिपाठी के मुताबिक भविष्य सुरक्षित करने के लिए इंश्योरेंस कराना चाहिए। कई पॉलिसी के साथ राइडर होते हैं जिनमें एक्सिडेंटल डेथ राइडर काफी पॉपुलर है। वहीं हेल्थ इंश्योरेंस के साथ क्रिटिकल इलनेस राइडर आता है। प्रशांत त्रिपाठी का कहना है कि पॉलिसी लेते वक्त अपने एजेंट से राइडर के बारे में जरूर जान लें।


प्रशांत त्रिपाठी ने बताया कि कम उम्र में हेल्थ इंश्योरेंस लेने पर कम प्रीमियम देना होता है। इसलिए कम उम्र में ही अपनी पहली सैलरी से ही लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी ले लें।