Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

पहरेदार की पहल पर पेटीएम ने दूर की मुश्किल

प्रकाशित Mon, 10, 2017 पर 14:43  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सीएनबीसी-आवाज़ पर आने वाला टीवी का सबसे बड़ा कंज्यूमर शो पहरेदार ग्राहक की आवाज बुलंद करता है और लड़ता है ग्राहक के हक की लड़ाई। जब कंपनियों की मनमानी के सामने कंज्यूमर झुकने लगता है, तब उनके हक की आवाज़ लेकर पहरेदार करता है कंपनी से सवाल और कंपनी को देना होता है जवाब।


पहरेदार के जरिए उन लोगों को इंसाफ मिल पाता है जो कंपनियों के अड़ियल रवैये के चलते उन जरूरी सर्विसेज से महरूम रह जाते हैं जो उनका हक है। पहरेदार उन कंपनियों को भी सबक सिखाता है जो वादे तो कर देती हैं लेकिन उन्हें पूरे करने में आनाकानी करती हैं।


ऑनलाइन शापिंग वेबसाइट्स पर लगी बम्पर सेल का फायदा सभी उठाना चाहते हैं और इसी तमन्ना में लखनऊ के विष्णुकांत अग्रवाल ने भी पेटीएम से अपने लिए 44000 रुपये का एक लैपटॉप ऑर्डर किया, उन्होंने इसका पेमेंट भी कर दिया लेकिन लैपटॉप विष्णुकांत के पास पहुंच ही नहीं रहा था। ये भी नहीं पता चल रहा था कि ये मिलेगी भी या नहीं मिलेगा और इनके पैसे कहां चले गए।


पेटीएम ने स्टॉक नहीं होने के बावजूद ऑर्डर ले लिया था। 2 दिन बाद कंपनी की तरफ से बताया गया कि स्टॉक खत्म होने की वजह से प्रोडक्ट डिलिवर नहीं हो सकता है। रिफंड प्रोसेस के लिए पेटीएम सिस्टम में स्पष्टता नहीं थी। पेटीएम ने कहा कि रिफंड किया जा चुका है, बैंक से संपर्क करें। बैंक ने बताया कि रिफंड नहीं आया है, पेटीएम से बात करें। हर बार पेटीएम से सिर्फ शिकायत सुलझाने का आश्वासन मिलता था।


ये मामला पहरेदार के पास आने के बाद पेटीएम ने मामले की जांच तेज की और कंपनी ने विष्णुकांत को पैसे रिफंड कर दिए।