Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

फार्मा कंपनियों पर गिरी यूएस एफडीए की गाज

प्रकाशित Tue, 21, 2017 पर 13:11  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

डिवीज लैब और डॉक्टर रेड्डीज इन दोनों फार्मा कंपनियों पर यूएस एफडीए की गाज गिरी है। डिवीज लैब्स करीब 20 फीसदी टूट गया है। डिवीज लैब की विशाखापट्टनम यूनिट पर यूएस एफडीए ने इंपोर्ट अलर्ट जारी किया है। जिस पर डिवीज लैब ने सफाई देते हुए कहा है कि वाइजैग यूनिट के लिए जारी इंपोर्ट अलर्ट से 10 प्रोडक्ट बाहर हैं। इंपोर्ट अलर्ट का जवाब देने की प्रक्रिया शुरू हो गई है।


वहीं डॉ रेड्डीज को भी यूएस एफडीए का झटका लगा है। बता दें कि कंपनी के इस प्लांट पर यूएस एफडीए ने कुल 13 आपत्तियां दर्ज की थीं। यूएस एफडीए के मुताबिक डॉ रेड्डीज के दुवाडा प्लांट पर आपत्तियों को ठीक से सुधारा नहीं गया, प्रोडक्ट डिस्ट्रिब्यूशन की गड़बड़ियों का ठीक से जवाब नहीं दिया गया, लीकेज दिक्कतों की ठीक से जांच नहीं हुई और आपत्तियों में बताए गए ऑर्गैनिज्म्स की ठोस जांच नहीं हुई।


बाजार को नीचे खींचने में फार्मा कंपनियों का भी हाथ रहा डॉ रेड्डीज और डिवीज लैब की पिटाई से फार्मा सेक्टर की हालत बिगड़ गई। यूएस एफडीए ने दोनों ही कंपनियों के विशाखपट्टनम यूनिट पर सवाल खड़े किए है। अब इन दोनों शेयरों में क्या करना चाहिए और आगे फार्मा सेक्टर की हालत कैसी रह सकती है? इस पर बात करते हुए फाइजर के पूर्व एमडी केवल हांडा ने कहा कि फर्मा कंपनियों को इस तरह की मुश्किलों से निपटने के लिए टेक्नोलॉजी अपग्रेड करने के साथ ही जूनियर लेबल से ही अपने कर्मचारियों के ट्रेनिंग पर ध्यान देना होगा।