Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

रिटर्न फाइल में दिक्कत, फास्ट ट्रैक होगा जीएसटीएन पोर्टल!

प्रकाशित Mon, 11, 2017 पर 18:41  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

जीएसटी के रूप में देश को एक टैक्स मिल चुका है लेकिन फिलहाल उसका रिटर्न फाइल करने में अनेक दिक्कतें हैं। सरकार ने सिर्फ रिटर्न फाइन करने के लिए तारीखें आगे बढ़ाई है बल्कि इस मसले के लिए एक कमिटी का भी गठन कर दिया गया है। लेकिन क्या अब सब कुछ ठीक हो जाएगा।


मौजूदा समय में भी जीएसटी को लेकर लोगों के सामने कई तरह की दिक्कतें बनी हुई है। इनवॉइस मैचिंग और इनवॉइस अपलोड करने में दिक्कतें आ रही है। वहीं ट्रांजिशन क्रेडिट क्लेम, फाइनल रिटर्न दाखिल करने और रिटर्न अपलोड में भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। रिटर्न अपलोड के बाद कई घंटों में प्रोसेसिंग होने की शिकायत है। एसईजेड को बिक्री के मामले में गलती का मैसेज मिला है। जीएसटीएन
पोर्टल स्लो काम करता है।


जीएसटी में इन सभी दिक्कतों के बाद लेकर कारोबारियों की मांग है कि सरकार से बिजनेस मॉडल के आकलन के लिए समय चाहिए। कंपोजिशन स्कीम की जरूरतें पूरी करने के लिए भी समय की जरुरत है। साथ ही रिटर्न फाइल करने की तारीख बढ़ाई जाएं।


हालांकि सरकार ने कारोबारियों को थोड़ी राहत देना का काम किया है। जिसके तहत जीएसटीएन भरने की आखिरी तारीख बढ़ाकर 10 अक्टूबर कर दी गई है। जीएसटीआर 2 भरने की तारीख 31 अक्टूबर की गई है जबकि जीएसटीआर 2 भरने की तारीख 10 नवंबर की गई है। जुलाई-सितंबर के लिए जीएसटीआर 4 भरने की तारीख 18 अक्टूबर की गई है जबकि जीएसटीआर 6 भरने की तारीख 13 अक्टूबर और जीएसटीआर 3B भरने के लिए 4 महीने का और वक्त दिया गया है। 


सरकार ने जीएसटी की समस्या से निजात पाने के लिए 3 मंत्रियों की कमेटी बनाई है। कमेटी जीएसटीएन के तकनीकी मुद्दों और कारोबारियों की दिक्कतों को देखेगी। साथ ही रिटर्न फाइल करने में हो रही दिक्कतों पर नजर रखेंगी और इन सभी दिक्कतों का समाधान बताएगी। 


बता दें कि जीएसटी से करीब 42,000 करोड़ का राजस्व सरकार के पास आया है।  सी-जीएसटी, एस-जीएसटी से 22,000 करोड़ रुपये, आई-जीएसटी से 15,000 करोड़ रुपये और सेस से 5,000 करोड़ रुपये का राजस्व सरकार ने जुटाया है।


जुलाई में 59.5 लाख लोगों का रजिस्ट्रेशन जीएसटी में हुआ। जिसमें से सिर्फ 44 लाख लोगों ने जीएसटीआर 3बी भरा है। 8 सितंबर तक 17 लाख जीएसटीआर1 फाइल किए गए और 13 करोड़ से ज्यादा इनवॉइस फाइल हुए है।