Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

प्रोमोटर्स का हिस्सा घटने के बावजूद शानदार रिटर्न!

प्रकाशित Thu, 03, 2017 पर 12:57  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बाजार में इस समय एक खास ट्रेंड देखने को मिल रहा है और वो ये है कि प्रमोटर्स, कंपनियों में अपनी हिस्सदारी तेजी से कम कर रहे हैं। यहां तक प्रोमोटर्स की हिस्सेदारी 16 साल के निचले स्तर पर पहुंच गई है। हालांकि, जिन कंपनियों में हिस्सेदारी कम हुई है उन्होंने उम्मीद से बेहतर रिटर्न निवेशकों को दिया है। जैसे कैन फिन होम्स में दिसंबर, 2016 से अब तक प्रोमोटर्स का हिस्सा 13.5 फीसदी घटा है जबकि इस शेयर ने इस अवधि में 95 फीसदी रिटर्न दिया है। नवीन फ्लोरीन में दिसंबर, 2016 से अब तक प्रोमोटर्स का हिस्सा 6.6 फीसदी घटा है जबकि इस शेयर ने इस अवधि में 47 फीसदी रिटर्न दिया है।


कैपिटल फर्स्ट में दिसंबर, 2016 से अब तक प्रोमोटर्स का हिस्सा 25 फीसदी घटा है जबकि इस शेयर ने इस अवधि में 35 फीसदी रिटर्न दिया है। इरोज इंटरनेशनल में दिसंबर, 2016 से अब तक प्रोमोटर्स का हिस्सा 7.2 फीसदी घटा है जबकि इस शेयर ने इस अवधि में 34 फीसदी रिटर्न दिया है। बीईएल में दिसंबर, 2016 से अब तक प्रोमोटर्स का हिस्सा 6.2 फीसदी घटा है जबकि इस शेयर ने इस अवधि में 32 फीसदी रिटर्न दिया है। वेदांता में दिसंबर, 2016 से अब तक प्रोमोटर्स का हिस्सा 12.7 फीसदी घटा है जबकि इस शेयर ने इस अवधि में 30 फीसदी रिटर्न दिया है।


भारती इंफ्राटेल में दिसंबर, 2016 से अब तक प्रोमोटर्स का हिस्सा 10.3 फीसदी घटा है जबकि इस शेयर ने इस अवधि में 17 फीसदी रिटर्न दिया है। नाल्को में दिसंबर, 2016 से अब तक प्रोमोटर्स का हिस्सा 9.2 फीसदी घटा है जबकि इस शेयर ने इस अवधि में 7.5 फीसदी रिटर्न दिया है। गति में दिसंबर, 2016 से अब तक प्रोमोटर्स का हिस्सा 6 फीसदी घटा है जबकि इस शेयर ने इस अवधि में 5.5 फीसदी रिटर्न दिया है। एचसीसी में दिसंबर, 2016 से अब तक प्रोमोटर्स का हिस्सा 8.3 फीसदी घटा है जबकि इस शेयर ने इस अवधि में 3 फीसदी रिटर्न दिया है।