Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

आरबीआई की रोक, फंस गया निवेशकों का पैसा

प्रकाशित Sat, 07, 2018 पर 13:20  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बिटकॉइन को लेकर आरबीआई के ताजा फैसले ने भारत में इसके लेनदेन पर रोक लगा दी है। एक्सचेंज में किसी तरह का ट्रांजैक्शन नहीं हो रहा है। लेकिन समस्या उन लोगों को लेकर है जिन्होंने इसमें पैसा लगा रखा है। अब वो कैश में इसे काफी कम कीमत पर बेचने को तैयार हैं।


स्निग्धा ने तेजी के दौर में बिटकॉइन में पैसा लगाया। जब उन्होंने बिटकॉइन में निवेश किया तो ये 10 लाख रुपये का आंकड़ा पार कर गया। बिटकॉइन में गिरावट का दौर शुरू हुआ लेकिन इन्होंने ये सोच कर पैसा लगाना जारी रखा कि शायद एक दिन कीमतें दोबारा चढ़ेंगी। लेकिन आरबीआई के ताजा निर्देश ने स्निग्धा जैसे हजारों लोगों को मुश्किल में डाल दिया है। ज्यादातर बिटकॉइन एक्सचेंज में लोगों के पैसे फंस गए हैं।


हालांकि पिछले कुछ महीनों से बैंक धीरे-धीरे बिटकॉइन के लेनदेन पर रोक लगा रहे थे लेकिन एक्सचेंज तब भी लोगों को गुमराह कर रहे थे। अब लाखों लोगों के बिटकॉइन में फंसे करोड़ों रुपये किसी काम के नहीं रहे। मजबूरी में अब लोग इसे कैश में बेचना चाहते हैं। बाजार में एक बिटकॉइन की कीमत करीब 4.25 लाख रुपये है लेकिन लोग इसे कैश में 3 लाख रुपये या इससे भी कम में बेचने को तैयार हैं।


अलग-अलग फोरम और ग्रुप में बिटकॉइन की बोली लग रही है। आरबीआई ने ग्राहकों के हित में क्रिप्टोकरेंसी पर फैसला लिया है। लेकिन आनन-फानन में बिटकॉइन बेचने की होड़ में मनी लॉन्ड्रिंग की आशंका भी है। सबसे बड़ी चिंता इस बात की है कि अलग-अलग एक्सचेंज लोगों के पैसे कैसे वापस करेंगे।