Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

आवाज़ अड्डा: पाक को ट्रम्प की फटकार, रुकेगा आतंकवाद!

प्रकाशित Wed, 03, 2018 पर 10:17  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नए साल पर पाकिस्तान के खिलाफ राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के एलान ने रंग दिखाना शुरु कर दिया है। अमेरिका ने पाकिस्तान को दी जाने वाली 25.5 करोड़ डॉलर की सैनिक सहायता रोक दी है। प्रेसिंडेट ट्रंप ने ट्वीट किया था कि अमेरिका अब पाकिस्तान को अनुदान नहीं देगा क्योंकि पिछले 15 साल में पाकिस्तान को 33 अरब डॉलर की जो सहायता दी गई उसके बदले पाकिस्तान ने आंतकवाद के खिलाफ ठोस कार्रवाई नहीं की सिर्फ झूठ और मक्कारी से काम चलाता रहा। पाकिस्तान के प्रति अमेरिका के ताजा रुख ने आंतकवाद के खिलाफ जंग और विश्व बिरादरी में पाकिस्तान को असहज स्थिति में ला खड़ा किया है। आज आवाज़ अड्डा में चर्चा करेंगे कि इन परिस्थितियों में हमारे यानि भारत के लिए क्या मौके हो सकते हैं?


ट्रंप ने अपने ट्वीट में कहा कि अमेरिका ने पिछले 15 सालों के दौरान पाकिस्तान को 33 अरब डॉलर से ज्यादा की मदद देने की मूर्खता की है और बदले में पाकिस्तान ने झूठ और धोखे के सिवा कुछ नहीं दिया। अफगानिस्तान में हम जिन आतंकवादियों से लड़ते हैं उन्हें वो पनाहगार मुहैया कराता है। अब और नहीं!


ट्रंप के ट्वीट से बौखलाया पाकिस्तान कोई जवाब दे पाता इससे पहले ही अमेरिका ने 25.5 करोड़ डॉलर की सैनिक सहायता रोक भी दी। जाहिर है काफी हद तक विदेशी अनुदान पर निर्भर पाकिस्तान में अब आतंकवादियों, कट्टरपंथियों, सेना और सरकार के समीकरण बदलेंगे और इसका असर भारत समेत दुनियाभर के देशों से पाकिस्तान के रिश्तों पर असर पड़ेगा। मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज सईद ने विना वक्त गंवाएं ट्रंप की कार्रवाई को भारत से जोड़ भी दिया है।


उधर चाहे ट्रंप के निर्णय का भारत से कोई सीधा संबंध ना हो लेकिन मोदी सरकार के मंत्री इसे पाकिस्तान के खिलाफ मोदी की डिप्लोमैटिक जीत बता रहे हैं। सवाल उठता है कि क्या वाकई पाकिस्तान पर अमेरिका की नकेल भारत की कूटनीतिक जीत है? और क्या भारत को भी अब पाकिस्तान के खिलाफ कड़े फैसले लेने चाहिए!