Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

एंटी-प्रॉफिटियरिंग नियमों में सफाई की मांग

प्रकाशित Mon, 08, 2018 पर 08:39  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

उद्योग संगठन सीआईआई ने जीएसटी के तहत एंटी प्रॉफिटियरिंग नियमों में सफाई की मांग की है। नियमों के मुताबिक इनपुट टैक्स क्रेडिट का फायदा प्रोडक्ट या सर्विस के दाम में कमी करके ग्राहकों तक पहुंचाना जरूरी है। सीआईआई के मुताबिक इन नियमों में स्पष्टता की कमी है। सीआईआई के मुताबिक कीमत तय करने में कई तरह के फैक्टर काम करते हैं जिसमें सप्लाई और डिमांड, सप्लायर की लागत और टैक्स शामिल हैं। सीआईआई ने कहा है कि एंटी प्रॉफिटियरिंग नियमों में वैल्युएशन के असेसमेंट और टैक्स के असर पर सफाई होना जरूरी है।


सीआईआई के मुताबिक एंटी प्रॉफिटियरिंग नियमों से छोटे कारोबारियों की मुसीबत बढ़ेगी। टैक्स अथॉरिटीज को भी सेंसिटिव होना चाहिए और बिना कारण कारोबारियों के शोषण से बचना चाहिए। सरकार ने कारोबारियों की मुनाफाखोरी पर लगाम कसने के लिए नेशनल एंटी प्रॉफिटियरिंग अथॉरिटी बनाई है। ये अथॉरिटी इस बात पर नजर रखती है कि कारोबारियों ने जीएसटी में कटौती का फायदा ग्राहकों तक पहुंचाया है या नहीं और कहीं कारोबारी मुनाफाखोरी तो नहीं कर रहे।