Moneycontrol » समाचार » राजनीति

कर्नाटक में कल 4 बजे होगा शक्ति परीक्षण

प्रकाशित Fri, 18, 2018 पर 11:52  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

कर्नाटक मामले में ऐतिहासिक फैसला देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने बी एस येदियुरप्पा को कल यानि शनिवार शाम 4 बजे सदन के पटल पर बहुमत साबित करने को कहा है। आपको बता दें कि कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला ने येदियुरप्पा को बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का वक्त दिया था। बहुमत साबित करने के लिए दिए गए वक्त को घटाने के अलावा कोर्ट ने ये भी कहा है कि इसके पहले येदियुरप्पा कोई भी नीतिगत निर्णय नहीं ले सकते।


नवनिर्वाचित सदस्यों को शपथ दिलाने के बाद प्रोटेम स्पीकर का चुनाव होगा और फिर विश्वास मत की सामान्य प्रक्रिया अपनाई जाएगी। इसके लिए सिक्रेट बैलेट यानि गुप्त मतदान भी नहीं होगा। कांग्रेस ने सबसे बड़ी पार्टी के रूप में येदियुरप्पा को सरकार बनाने का न्योता देने के राज्यपाल के फैसले को चुनौती दी थी। कोर्ट ने कहा है कि राज्यपाल के फैसले की वैधता पर कोर्ट 10 हफ्ते के बाद निर्णय लेगा लेकिन अभी मामले को निपटाने का सबसे अच्छा जरिया, सदन के पटल पर बहुमत का परीक्षण होगा। कांग्रेस की तरफ से कोर्ट में पेश हुए वरिष्ठ वकील और कांग्रेस के नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने इसे एक ऐतिहासिक फैसला बताया है।


वहीं कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने कहा है कि वो कल सदन में बहुमत साबित कर देंगे। इस बीच जेडीएस नेता एच डी कुमारस्वामी ने कहा है कि उनकी पार्टी के एक भी विधायक बीजेपी के संपर्क में नहीं हैं। वहीं सुप्रीम कोर्ट के अंतरिम आदेश का कांग्रेस ने स्वागत किया है और कहा कि इससे संविधान और लोकतंत्र बचा है। कर्नाटक विधानसभा चुनाव में भाजपा को 104, जेडीएस को 38 और कांग्रेस केा 78 सीटें मिली थी।


कर्नाटक पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला और बीजेपी पर तीखा हमला किया है। राहुल गांधी ने ट्वीट किया है कि आज के सर्वोच्च न्यायालय आदेश से हमारे इस स्टैंड को सही ठहराया है कि गवर्नर वाला ने असंवैधानिक तरीके से काम किया है। सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी का ये झांसा कि वो बिना संख्याबल के सरकार बनाएगी, कोर्ट में उजागर हो गया है। कानून रूप से रोक दिए जाने के बाद वो अब जनादेश की चोरी करने के लिए पैसे और ताकत को आजमाएंगे।


सुप्रीम कोर्ट के अंतरिम आदेश का कांग्रेस ने स्वागत किया है और कहा कि इससे संविधान और लोकतंत्र बचा है। कांग्रेस के महासचिव अशोक गहलोत ने सीएनबीसी-आवाज़ से एक्सक्लूसिव बातचीत में कहा है कि कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन अटूट है और बीजेपी की होर्स ट्रेडिंग की कोशिश कामयाब नहीं होगी।