Moneycontrol » समाचार » राजनीति

धर्म को लेकर किसी के प्रमाणपत्र की जरूरत नहीं: राहुल गांधी

प्रकाशित Sat, 02, 2017 पर 13:33  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सोमनाथ मंदिर के रजिस्टर में कथित तौर पर गैर हिंदुओं के लिए निर्धारित रजिस्टर में नाम लिखने से उपजे विवाद के बाद कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भारतीय जनता पार्टी पर करारा वार किया है। एक दिन पहले गुजरात के अमरेली में कारोबारियों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि धर्म को लेकर हमें किसी के प्रमाणपत्र की जरूरत नहीं है। हम धर्म की दलाली नहीं करते हैं। मेरी दादी और मेरा परिवार शिवभक्त हैं। हम धर्म का इस्तेमाल राजनीतिक फायदे के लिए नहीं करते हैं। राहुल ने कहा कि धर्म निजी चीज है। हम धर्म का व्यापार नहीं करते हैं।


उधर गुजरात चुनाव के रण में वित्त मंत्री अरुण जेटली भी उतर गए है। आज सूरत में उन्होंने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा की गुजरात के लोगों ने कांग्रेस ने अराजकता वाली राजनीति की बड़ी कीमत चुकाई है। वहीं राजनीति फिर से कांग्रेस फैलाने की कोशिश कर रही है। इसके अलावा उन्होंने दावा किया कि गुजरात में एक स्थिर सरकार देने की क्षमता सिर्फ बीजेपी में ही हैं।


कांग्रेस को सपोर्ट करने के लिए गुजरात चुनाव में पूर्व प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह भी कूद गए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आरोपों पर आज उन्होंने जमकर पलटवार किया। मनमोहन सिंह ने कहा कि नरेंद्र मोदी का ये कहना सरासर गलत है कि केंद्र में पूर्व यूपीए सरकार गुजरातियों से नफरत करती थी। उन्होंने ये भी कहा कि 70 साल में देश में बहुत कुछ बदला है। कई मायनों में देश विकास किया है। लिहाजा ये कहना कि 70 सालों में कुछ नहीं हुआ, गलत होगा।


पूर्व प्रधानमंत्री के आरोपों को वित्त मंत्री अरुण जेटली ने करारा जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि 90 के दशक में जो रिफॉर्म हुए, वो दबाव में लिए गए फैसले थे, मगर एनडीए सरकार जो सुधार कर रही है वो मजबूती और सोच-समझकर लिए गए फैसले हैं। इसके अलावा उन्होंने दावा किया कि गुजरात में एक स्थिर सरकार देने की क्षमता सिर्फ बीजेपी में ही हैं।