Moneycontrol » समाचार » राजनीति

गुजरात, हिमाचल प्रदेश में बीजेपी को बहुमत

प्रकाशित Mon, 18, 2017 पर 08:55  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

गुजरात और हिमाचल प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनेगी। कांग्रेस के हाथ से हिमाचल प्रदेश फिसल गया है और वहां कमल खिल गया है। लेकिन गुजरात के चुनाव नतीजे क्रिकेट वन डे मुकाबले की तरह रहे। शुरुआत में जब रुझान आए तो एक बार लगा कि कांग्रेस बीजेपी से आगे निकल गई लेकिन जैसे जैसे रुझान आते गए उससे साफ हो गया कि लगातार छठी बार बीजेपी ही गुजरात में सरकार बनाएगी। बीजेपी ने 99 सीटें जीत कर बहुमत हासिल किया तो कांग्रेस ने भी 77 सीटें जीत कर अच्छी चुनौती दी। हिमाचल प्रदेश में बीजेपी ने 44 सीटों पर जीत दर्ज की है और कांग्रेस ने 21 सीटें जीती हैं। हिमाचल प्रदेश में अन्य को 3 सीटें मिली हैं।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जनता ने विकास की जीत पर मुहर लगा दी है। वहीं वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सीएनबीसी-आवाज़ के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत में कहा कि गुजरात में बीजेपी के विकास ने कांग्रेस के जातिवाद को हरा दिया है। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का कहना है कि मोदी जी की विकास यात्रा और विजय यात्रा 2019 में भी नहीं रुकेगी।


इस बीच बीजेपी पार्लियामेंट्री बोर्ड की मीटिंग में गुजरात और हिमाचल में सीएम चुनने के लिए पर्यवेक्षक बना दिए गए हैं। जो दोनों राज्यों के सीएम कैंडिडेट पर फैसला लेंगे। गुजरात के लिए अरुण जेटली और सरोज पांडे को पर्यवेक्षक बनाया गया है, जबकि हिमाचल प्रदेश के लिए निर्मला सीतारमण और नरेंद्र सिंह तोमर को पर्यवेक्षक बनाया गया है।


वहीं राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी ने हार मान ली है। राहुल गांधी ने गुजरात और हिमाचल की नई सरकारों को बधाई दी है। इसके अलावा उन्होंने गुजरात में बढ़िया प्रदर्शन के लिए कार्यकर्ताओं का हौसला बढ़ाया है। उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि कांग्रेसी भाईयों और बहनों आपके कारण आज काफी गर्व महसूस कर रहा हूं। आप उन लोगों की तुलना में अलग हैं जो आप से लड़ते हैं क्योंकि आप सभी ने क्रोध का सामना किया। आपने हर किसी का डटकर सामना किया है। कांग्रेस की सबसे बड़ी ताकत उसकी शालीनता और साहस है, इस चुनाव ने ये साबित कर दिया है।


वहीं मार्केट एक्सपर्ट उदयन मुखर्जी ने कहा है कि अगले हफ्ते तक गुजरात चुनाव का असर बाजार पर खत्म हो जाएगा। उन्होंने कहा कि 2018 में बाजार पर बजट का असर दिखने लगेगा। बाजार के जानकार अजय बग्गा ने कहा कि कांग्रेस को गलतियों का नुकसान उठाना पड़ा है। साथ ही उन्होंने कहा कि बजट के बाद फिस्कल स्लिपेजेस हो सकती हैं, जिससे रिफॉर्म को झटका लग सकता है। सिट्रस एडवाइजर्स के फाउंडर संजय सिन्हा का कहना है कि 2019 तक प्रधानमंत्री मोदी जैसा दूसरा नेता नहीं दिख रहा है। 2019 तक बीजेपी अच्छे इकोनॉमिक रिफॉर्म लाती रहेगी। ये बातें बाजार में जोश भरने में कामयाब होगी।