Moneycontrol » समाचार » राजनीति

टक्कर: पहले सिब्बल अब अय्यर, क्या कांग्रेस को पड़ेगा भारी

प्रकाशित Fri, 08, 2017 पर 10:43  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सीएनबीसी-आवाज़ पर एक और डिबेट शो टक्कर शुरू हो गया है। इसमें सोमवार से शुक्रवार रात 09:00 बजे आपसे जुड़े हुए मुद्दे उठाए जाते हैं और सरकार से पूछे जाते हैं तीखे सवाल।


टीवी पर बहस तो बहुत होती रहती हैं लेकिन वहां तू-तू, मैं-मैं के बीच आपके मुद्दे दब जाते हैं और आपके हक की आवाज़ गुम हो जाती है। इसलिए टक्कर में उन चेहरों से सीधे सवाल किए जाते हैं जिनकी आपके प्रति सीधी जवाबदेही बनती है। टक्कर महज एक शो नहीं है ये 130 करोड़ भारतीयों की एक बड़ी मुहिम है।


मणिशंकर अय्यर को प्रधानमंत्री मोदी को नीच शब्द कहना भारी पड़ा है। कांग्रेस ने कड़ी कार्रवाई करते हुए मणिशंकर अय्यर को प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है और इसके साथ ही उन्हें कारण बताओ नोटिस भी दिया गया है। दरअसल जैसे ही मणिशंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नीच और असभ्य बताया तो कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने उन्हें माफी मांगने को कहा। इसके बाद मीडिया में मणिशंकर अय्यर ने सफाई दी लेकिन कांग्रेस ने सख्त कार्रवाई करते हुए उन्हें प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया।


कांग्रेस ने कहा है कि उन्होंने तो कार्रवाई कर दी लेकिन क्या मोदी जी कार्रवाई करने का साहस दिखाएंगे। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मणिशंकर अय्यर के बयान को गुजरात का अपमान बताया और कहा कि जनता खुद चुनाव में इसका जवाब देगी। मणिशंकर के बयान पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि प्रधानमंत्री के लिए गलत शब्दों का इस्तेमाल कांग्रेस की सोची समझी रणनीति है। कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मणिशंकर अय्यर की बातों की आलोचना की। रविशंकर ने मणिशंकर की सोच को दरबारी सोच बताया।


कांग्रेस ने मणिशंकर अय्यर के बयान से किनारा कर लिया। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि वो मणिशंकर अय्यर की भाषा और तरीके का समर्थन नहीं करते। राहुल ने कहा कि कांग्रेस और वो चाहते हैं कि मणिशंकर अय्यर इस पर माफी मांगें। लालू यादव ने भी मणिशंकर अय्यर के बयान की आलोचना करते हुए उन्हें पागल तक कह दिया।