Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » प्रॉपर्टी

इंडिया रियल एस्टेट: कैसा होगा हीरानंदानी का प्रोजेक्ट कासेल रॉक

प्रकाशित Mon, 17, 2017 पर 14:03  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

मुंबई के नॉर्थ-ईस्ट में बसा बेहद खास सबर्ब है पवई। पवई के एक ओर अंधेरी और जोगेश्वरी है तो दूसरी ओर विक्रोली और भांडुप जैसे इलाके पवई अकेली ऐसी जगह है जहां एक ओर कई किलोमीटर में फैले पर्वत और हरियाली नजर आते हैं बाकि पवई विहार लेक तो यहां का सबसे खास आकृर्षण है ही। कनेक्टिविटी के लिहाज से पवई बेहद शानदार है, क्योकि जेवीएलआर यानि जोगेश्वरी विक्रोली लिंक रोड के जरिए ये इलाका ईस्टर्न और वेस्टर्न एक्सप्रेस वे को कनेक्ट करता है।   पवई को खास पहचान मिली हीरानंदानी ग्रुप की टाउनशिप हीरानंदानी गार्डन से बीते तीस वर्षों में पवई का विकास काफी तेजी से हुआ है जिसकी वजह से ये इलाका आज मुंबई के अहम रियल एस्टेट मार्केट्स में गिना जाता है।


मुंबई के रियल एस्टेट मार्केट में हीरानंदानी ग्रुप सबसे पुराने नामों में से एक हैं। 1978 में शुरु हुए हीरानंदानी ने 1987 से रियल एस्टेट में कदम रखा जो आज एक बड़े ब्रांड नेम के तौर पर स्टैब्लिश है
कंपनी की शानदार इमेज, वर्किंग स्टाइल, के चलते हीरानंदानी ग्रुप को देशभर के बिल्डरों का सम्मान हासिल है। अपने बेहतर काम के चलते कंपनी ने लगातार नए बेंचमार्क सेट किए। हीरानंदानी को खास पहचान मिली पवई में बनी टाउनशिप हीरानंदानी गार्डन से इसके अलावा कंपनी ने ठाणे और नवी मुंबई में भी टाउनशिप प्रोजेक्ट बनाए हैं। महाराष्ट्र के अलावा कंपनी ने चेन्नई और दुबई तक अपनी पहुंच कायम की है। हीरानंदानी ग्रुप का खास ध्यान हाइ क्वालिटी और कंज्यूमर सेटिस्फेक्शन पर रहता है। जिसकी वजह से आज कंपनी ग्राहकों की पसंदीदा रियल एस्टेट कंपनी बन चुकी है।


कासल रॉक पवई में हीरानंदानी गार्डन का ही एक हिस्सा होगा। ये प्रोजेक्ट 5 एकड़ के लैंड एरिया पर बनाया जाएगा, जिसमें 4 अलग अलग टॉवर्स होंगे। इन्हें गार्डन व्यू, हिल व्यू और क्रीक व्यू के नाम से इंडीकेट किया जाएगा। कासल रॉक में सिर्फ 2 बेडरूम के 507 घर बनाए जाने हैं।


कासल रॉक कंज्यूमर्स के लिए शानदार एमिनिटीज होंगी जिनमें खासकर हीरानंदानी गार्डन की एमिनिटीज शामिल है यानि स्कूल, हॉस्पिटल्स, होटल्स और मार्केट जैसी सुविधाएं जो कि पहले से मौजूद हैं। कासल रॉक फिलहाल प्लानिंग के फेज में है यानि साइट पर फिलहाल कंस्ट्रक्शन शुरू नहीं हुआ है जो कि अगले कुछ महीनों में शुरू होगा और कंपनी का दावा है इसे दिसम्बर 2021 तक पूरा कर लिया जाएगा।


कासेल रॉक में एमिनिटीज किसी भी प्रोजेक्ट के मुकाबले ज्यादा शानदार होगी। इसकी खास वजह है कि भले ही प्रोजेक्ट अभी अस्तित्व में न आया हो लेकिन हीरानंदानी गार्डन में कई वर्षों पहले बन चुकी वर्ल्ड क्लास एमिनिटीज पूरी तरह से वर्किंग कंडीशन में है। हालांकि कासेल रॉक में रहने वालों के लिए एक अलग क्लब होगा लेकिन दूसरी जरूरतों के लिए वो हीरानंदानी गार्डन की दूसरी सुविधाओं पर निर्भर रहेंगे।  


हीरानंदानी गार्डन में आपकी सुविधा के लिए अत्याधुनिक हॉस्पिटल, मॉर्डन स्कूल्स 5 स्टार होटल्स, शानदार क्लब, स्वीमिंग पूल और मार्डन जिम्नेजियम है इसके अलावा हीरानंदानी गार्डन में शानदार स्ट्रीट मार्केट है जहां रोजाना जरूरत की छोटी बड़ी हर चीज मौजूद है। इन सबसे अलग एक और खास जरूरत है शुद्ध वातावरण जिसकी लगातार कमी होती जा रही है। इसको समझते हुए हीरानंदानी गार्डन में काफी बड़ा हिस्सा ग्रीनरी के लिए रखा गया है साथ ही कई एकड़ में एक प्राकृतिक जंगल तैयार किया गया है जहां आपको शायद ही कहीं नजर आएगा। इन सबके अलावा हीरानंदानी गार्डन वो सब सुविधाएं हैं जो एक स्मार्ट प्रोजेक्ट में होनी चाहिए।


इतनी सुविधाओं से भरपूर इस प्रोजेक्ट में अब आपका मन घरों की कीमत जानने का कर रहा होगा तो चलिए आपको वो भी बताए देते हैं, आसान शब्दों में समझें तो कासेल रॉक में 21000 रुपये प्रति वर्ग फुट का भाव है। यानि यहां कुल मिलाकर घरों की शुरुआत होती है 2 करोड़ 34 लाख रुपए से इस प्रोजेक्ट में सिर्फ 2 बेडरूम के घर प्लान किए गए हैं जो 650 वर्ग फुट और 700 वर्ग फुट एरिया में होंगे।   


करीब 250 एकड़ की टाउनशिप हीरानंदानी गार्डन में कई प्रोजेक्ट बन चुके हैं और कई जगह कंट्रक्शन होना बाकी है यानि भविष्य में यहां आप कई नए प्रोजेक्ट आते देखेंगे। उन्हीं में से एक है कासेल रॉक जो कि अभी बनना शुरू भी नहीं हुआ है और कंपनी का दावा है कि 50 प्रतिशत से ज्यादा घर बेचे भी जा चुके हैं। हालाकि उम्मीद है जल्द ही कासेल रॉक का कंट्रक्शन शुरूकर कंपनी इसे निर्धारित समय सीमा में पूरा करके यानि दिसंबर 2021 तक ग्राहकों को सुपुर्द कर देगी।