कैसे रहेंगे चौथी तिमाही में बैंकिग सेक्टर के नतीजे

प्रकाशित Tue, 10, 2018 पर 15:13  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नतीजों का मौसम शुरू होने वाला है, ऐसे में चौथी तिमाही में फाइनेंशियल सेक्टर के नतीजे कैसे रह सकते हैं आइए जानते हैं। चौथी तिमाही में कॉर्पोरेट बैंकों के नतीजे कमजोर रहने की आशंका है। कम ट्रेजरी आय और एनपीएल बढ़ने से इन पर दबाव रह सकता है।


फंडिंग कॉस्ट बढ़ने से नेट इंटरेस्ट मार्जिन घटने की संभावना है। हालांकि आरबीआई के कदमों की वजह से ट्रेजरी नुकसान नहीं होगा। प्रोविजनिंग बढ़ने से क्रेडिट कॉस्ट में बढ़त संभव है। नई आरबीआई गाइडलाइंस से स्लिपेजेज बढ़ सकते हैं।