सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया को ₹591.8 करोड़ का घाटा -

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया को ₹591.8 करोड़ का घाटा

प्रकाशित Sat, 13, 2017 पर 15:59  |  स्रोत : Moneycontrol.com

वित्त वर्ष 2017 की चौथी तिमाही में सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया को 591.8 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। वित्त वर्ष 2016 की चौथी तिमाही में सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया को 898 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था।


वित्त वर्ष 2017 की चौथी तिमाही में सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की ब्याज आय 9.7 फीसदी बढ़कर 1715.4 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2016 की चौथी तिमाही में सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की ब्याज आय 1563.3 करोड़ रुपये रही थी।


तिमाही दर तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया का ग्रॉस एनपीए 14.14 फीसदी से बढ़कर 17.81 फीसदी रहा है। तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया का नेट एनपीए 8.54 फीसदी से बढ़कर 10.20 फीसदी रहा है।


तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में रुपये में सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया का ग्रॉस एनपीए 25,843.5 करोड़ रुपये के मुकाबले 27,251.3 करोड़ रुपये रहा है। तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में रुपये में सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया का नेट एनपीए 14,611 करोड़ रुपये के मुकाबले 14,217.8 करोड़ रुपये रहा है।


तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की प्रोविजनिंग 1486 करोड़ रुपये से बढ़कर 1926.7 करोड़ रुपये रही है, जबकि पिछले साल इसी तिमाही में बैंक की प्रोविजनिंग 2286.7 करोड़ रुपये रही थी।