इंफोसिस के मुनाफे में 2.8% की बढ़ोतरी, डॉलर आय घटी -

इंफोसिस के मुनाफे में 2.8% की बढ़ोतरी, डॉलर आय घटी

प्रकाशित Fri, 13, 2017 पर 09:08  |  स्रोत : Moneycontrol.com

वित्त वर्ष 2017 की तीसरी तिमाही में इंफोसिस का मुनाफा 2.8 फीसदी बढ़कर 3708 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2017 की दूसरी तिमाही में इंफोसिस का मुनाफा 3606 करोड़ रुपये रहा था।


हालांकि वित्त वर्ष 2017 की तीसरी तिमाही में इंफोसिस की आय 0.2 फीसदी घटकर 17,273 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2017 की दूसरी तिमाही में इंफोसिस की आय 17,310 करोड़ रुपये रही है।


वित्त वर्ष 2017 की तीसरी तिमाही में इंफोसिस की डॉलर आय 1.4 फीसदी घटकर 255.1 करोड़ डॉलर रही है। वित्त वर्ष 2017 की दूसरी तिमाही में इंफोसिस की डॉलर आय 258.7 करोड़ डॉलर रही थी।


तिमाही दर तिमाही आधार पर अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में इंफोसिस का एबिट 4309 करोड़ रुपये से बढ़कर 4334 करोड़ रुपये रहा है। तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में इंफोसिस का एबिट मार्जिन 24.9 फीसदी से मामूली बढ़कर 25.09 फीसदी रहा है।


इंफोसिस ने वित्त वर्ष 2017 के लिए स्थिर करेंसी में आय में 8.4-8.8 फीसदी की ग्रोथ का अनुमान दिया है। इंफोसिस ने वित्त वर्ष 2017 के लिए डॉलर आय की ग्रोथ का अनुमान 7.5-8.5 फीसदी से घटाकर 7.2-7.6 फीसदी कर दिया है।


इंफोसिस का कहना है कि तीसरी तिमाही में 7.5 करोड़ डॉलर से ज्यादा के 2 ग्राहक जोड़े हैं, जबकि 2.5 करोड़ डॉलर से ज्यादा का 1 ग्राहक जोड़ा है। तीसरी तिमाही में 1 करोड़ डॉलर से ज्यादा के 9 ग्राहक जोड़े हैं। तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में एट्रिशन रेट 20 फीसदी से घटकर 18.4 फीसदी रहा है।


तिमाही आधार पर अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में उत्तरी अमेरिका के कारोबार में 0.6 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। तिमाही आधार पर अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में यूरोप के कारोबार में 2.5 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। तिमाही आधार पर अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में भारतीय कारोबार में 1 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। तिमाही आधार पर अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में बाकी देशों के कारोबार में 3.2 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है।


तिमाही आधार पर अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में फाइनेंशियल सर्विसेस और इंश्योरेंस सेगमेंट में कारोबार 0.8 फीसदी घटा है। तिमाही आधार पर अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में मैन्युफैक्चरिंग और हाई-टेक सेगमेंट में कारोबार 1.5 फीसदी घटा है। तिमाही आधार पर अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में रिटेल, कंज्यूमर प्रोड्कट और लॉजिस्टिक्स सेगमेंट में कारोबार 1.5 फीसदी घटा है। तिमाही आधार पर अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में एनर्जी, यूटिलिटीज और कमर्शियल सर्विसेस सेगमेंट में कारोबार 2.1 फीसदी घटा है।


इंफोसिस के सीईओ, विशाल सिक्का अमेरिका की वीजा पॉलिसी से बहुत फिक्रमंद नहीं नजर आते। उन्होंने उम्मीद जताई है कि अमेरिका में ट्रंप प्रशासन लंबे समय में बिजनेस फ्रेंडली नीतियां अपनाएगा।


इस बारे में अपनी राय दीजिए
पोस्ट करनेवाले: vivek_itपर: 18:40, जनवरी 18, 2017

Around 950 every brokerage firm suddenly started to give a buy call for Infy so they can get rid of before Trump In...

पोस्ट करनेवाले: Guestपर: 18:17, जनवरी 18, 2017

lottery dub jayegi beta..paise nikal le abhi bhi time hai...