इंफोसिसः मुनाफा 2.8% घटा, आय मामूली घटी -

इंफोसिसः मुनाफा 2.8% घटा, आय मामूली घटी

प्रकाशित Thu, 13, 2017 पर 09:03  |  स्रोत : Moneycontrol.com

वित्त वर्ष 2017 की चौथी तिमाही में इंफोसिस का मुनाफा 2.83 फीसदी घटकर 3603 करोड़ रुपये रहा है। वित्त वर्ष 2017 की तीसरी तिमाही में इंफोसिस का मुनाफा 3708 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2017 की चौथी तिमाही में इंफोसिस की आय 0.9 फीसदी घटकर 17,120 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2017 की तीसरी तिमाही में इंफोसिस की आय 17,273 करोड़ रुपये रही थी।

वित्त वर्ष 2017 की चौथी तिमाही में इंफोसिस की डॉलर आय 0.7 फीसदी बढ़कर 256.9 करोड़ डॉलर रही है। वित्त वर्ष 2017 की तीसरी तिमाही में इंफोसिस की डॉलर आय 255.1 करोड़ डॉलर रही थी।


तिमाही दर तिमाही आधार पर इंफोसिस का एबिट 4,334 करोड़ रुपये से घटकर 4,212 करोड़ रुपये रहा है। तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में इंफोसिस का एबिट मार्जिन 25.09 फीसदी से घटकर 24.60 फीसदी रहा है।


इंफोसिस ने वित्त वर्ष 2018 के लिए उम्मीद से कम गाइडेंस दिया है। कंपनी ने 14.75 रुपये प्रति शेयर डिविडेंड का भी एलान किया है।


इंफोसिस ने वित्त वर्ष 2018 के लिए स्थिर करेंसी में आय में 6.5-8.5 फीसदी की ग्रोथ का अनुमान दिया है। इंफोसिस ने वित्त वर्ष 2018 के लिए एबिट मार्जिन ग्रोथ 23-25 फीसदी रहने का अनुमान दिया है। इंफोसिस ने वित्त वर्ष 2018 के लिए कंपनी की रुपये में होने वाली आय में 2.5-4.5 फीसदी ग्रोथ का अनुमान दिया है।


इंफोसिस का कहना है कि चौथी तिमाही में 10 करोड़ डॉलर से ज्यादा का 1 ग्राहक जुडा़ है, जबकि 5 करोड़ डॉलर से ज्यादा का 2 ग्राहक जुड़े हैं। चौथी तिमाही में 50 लाख डॉलर से ज्यादा के 7 ग्राहक जुड़े हैं जबकि 2.5 करोड़ डॉलर से अधिक का 1 ग्राहक जुड़ा है। तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में एट्रिशन रेट 18.4 फीसदी से घटकर 117.1 फीसदी रहा है।


तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में उत्तरी अमेरिका के कारोबार में 1.3 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई है। तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में यूरोप के कारोबार में 1.6 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में भारतीय कारोबार में 5.4 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। तिमाही आधार पर  जनवरी-मार्च तिमाही में बाकी देशों के कारोबार में 0.8 फीसदी की हल्की बढ़त दर्ज की गई है।


तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में फाइनेंशियल सर्विसेस और इंश्योरेंस सेगमेंट में कारोबार 1.3 फीसदी बढ़ा है। तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में मैन्युफैक्चरिंग और हाई-टेक सेगमेंट में कारोबार 0.4 फीसदी बढ़ा है। तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में रिटेल, कंज्यूमर प्रोड्क्ट और लॉजिस्टिक्स सेगमेंट में कारोबार 2.7 फीसदी घटा है। तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में एनर्जी, कम्युनिकेशंस और कमर्शियल सर्विसेस सेगमेंट में कारोबार 3.9 फीसदी बढ़ा है।


इंफोसिस के सीईओ विशाल सिक्का ने कहा कि ग्लोबल वीजा दिक्कतें, अंदरूनी परेशानियों के कारण चौथी तिमाही पर असर पड़ा है। हालांकि उन्होंने कहा कि कंपनी का फोकस बड़ी डील्स पर है। उन्होंने बताया कि ऑटोमेशन, इनोवेशन पर फोकस बना रहेगा। सिक्का ने बताया कि इंफोसिस अपने मना फ्लैटफॉर्म के कारोबार को दोगुना करने के लक्ष्य पर काम कर रही है। कंपनी का सॉफ्टवेयर, सर्विसेज का प्रदर्शन अच्छा रहा है। आगे आईटी सेक्टर के लिए माहौल चुनौती भरा रहेगा।


विशाल सिक्का ने आगे कहा कि ट्रांसफॉर्मेशन जरूरी है, चुनौतियों से निपटने के लिए कंपनी को ट्रांसफॉर्म करना होगा। इनोवेशन के जरिए क्लाइंट्स की दिक्कतें दूर की जाएंगी और ज्यादा से ज्यादा ऑटोमेशन पर फोकस होगा।