Moneycontrol » समाचार » रिटायरमेंट

योर मनी: बेफिक्र रिटायरमेंट का पूरा प्लान

प्रकाशित Tue, 26, 2017 पर 17:27  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

योर मनी में रहे हैं आपके रिटायरमेंट की प्लानिंग। आपके मन में एनपीएस यानि नेशनल पेंशन स्कीम को लेकर काफी सवाल हैं, और आपके इन्हीं सवालों और उलझनों का हल ढूढ़ने में मदद कर रहे हैं फाइनेंशियल प्लानर अर्णव पंड्या


अर्णव पंड्या का कहना है कि रिटायरमेंट के लिए नेशनल पेंशन स्कीम निवेश का अच्छा विकल्प है। पहले यह स्कीम सरकारी कर्मचारियों के लिए आई थी, लेकिन अब कोई भी निवेशक इस स्कीम में निवेश कर सकता है। इस स्कीम में निवेश के लिए एनपीए अकाउंट खोलना पड़ता है, और इसके बाद आपको परमानेंट रिटायरमेंट अकाउंट नंबर मिलता है। स्कीम के लिए सबसे पहले टियर-1 अकाउंट खोलना होता है। टियर-1 अकाउंट से आप पैसे निकाल नहीं सकते हैं। टियर-1 अकाउंट के बाद टियर-2 अकाउंट खुलवा सकते हैं।


एनपीए की रकम का इक्विटी, बॉन्ड और सरकारी सिक्योरिटीज में निवेश किया जाता है। इक्विटी में ज्यादा से ज्यादा 50 फीसदी निवेश का विकल्प है। 35 साल की उम्र तक इक्विटी निवेश के दो और विकल्प मौजूद होते हैं। 35 साल की उम्र तक इक्विटी में 75 फीसदी या 25 फीसदी निवेश कर सकते हैं। एनपीए में निवेश पर सेक्शन 80सीसीडी के तहत फायदे भी मिलते हैं। स्कीम से मिलने वाला 40 फीसदी हिस्सा एन्युटी में जाता है और एन्युटी से रिटायरमेंट के बाद नियमित आमदनी होती है। स्कीम से बाकी 60 फीसदी पैसा एकमुश्त मिलता है।