Moneycontrol » समाचार » स्टॉक व्यू खबरें

कमजोर फंडामेंटल वाले दिग्गज शेयर, बने रहें या निकल जाएं!

प्रकाशित Fri, 08, 2017 पर 13:43  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बाजार की तेजी में भी हर शेयर में मुनाफे की गारंटी नहीं होती। कई बार ऐसा होता है कि आप जिस कंपनी और उसके फंडामेंटल पर भरोसा कर उसमें निवेश करते हैं वो शेयर आपको धोखा देते हैं। ऐसे शेयर जिनके नाम तो बड़े हैं लेकिन रिटर्न के नाम पर आपको उनमें टेंशन मिल रहा हो। उन शेयरों को अपने पोर्टफोलियो में बनाए रखें या निकालकर बाहर करें, यही बताने के लिए सीएनबीसी-आवाज़ लेकर आया है ये खास शो ऊंची दुकान, फीके पकवान जिसमें मदद करने की लिए आवाज़ के साथ हैं मार्केट एक्सपर्ट अंबरीश बलिगा और जॉइंड्रे कैपिटल के अविनाश गोरक्षकर।


सबसे पहले आपको ऐसे कुछ शेयरों के बारे में बता देते हैं। सन फार्मा का 5 साल का शीर्ष स्तर 1200 रुपये है अभी ये 60 फीसदी की गिरावट के साथ 475 रुपये के आसपास कारोबार कर रहा है। वहीं, वॉकहार्ट का 5 साल का शीर्ष स्तर 2166 रुपये है अभी ये 72 फीसदी की गिरावट के साथ 614 रुपये के आसपास कारोबार कर रहा है। इसी तरह सुजलॉन अपने 5 साल के शीर्ष स्तर 22.25 रुपये से 56 फीसदी गिरावट के साथ 16.30 रुपये के आसपास कारोबार कर रहा है।


आइनॉक्स विंड का शीर्ष स्तर 494.70  रुपये है, अभी ये 74 फीसदी की गिरावट के साथ 127.50 रुपये के आसपास कारोबार कर रहा है। इसी तरह जस्ट डॉयल अपने शीर्ष स्तर 1894.70 रुपये से 79 फीसदी गिरावट के साथ 388 रुपये के आसपास कारोबार कर रहा है। जीएमआर इंफ्रा का 5 साल का शीर्ष स्तर 38.30 रुपये है अभी ये 54 फीसदी की गिरावट के साथ 17.55 रुपये के आसपास कारोबार कर रहा है।


आईएफसीआई का 5 साल का शीर्ष स्तर 44.90 रुपये है अभी ये 46 फीसदी की गिरावट के साथ 24.25 रुपये के आसपास कारोबार कर रहा है। वहीं रिलायंस कम्युनिकेशन का 5 साल का शीर्ष स्तर 164.45 रुपये है अभी ये 86 फीसदी की गिरावट के साथ 22.45 रुपये के आसपास कारोबार कर रहा है। इसी तरह रिलायंस पावर का शीर्ष स्तर 113.20 रुपये है, अभी ये 65 फीसदी की गिरावट के साथ 39.85 रुपये के आसपास कारोबार कर रहा है।


कोल इंडिया का शीर्ष स्तर 447.25 रुपये है, अभी ये 43 फीसदी की गिरावट के साथ 253 रुपये के आसपास कारोबार कर रहा है। इसी तरह वीडियोकॉन अपने शीर्ष स्तर 246.25 रुपये से 92 फीसदी गिरावट के साथ 18.70 रुपये के आसपास कारोबार कर रहा है। वहीं, एचडीआईएल का 5 साल का शीर्ष स्तर 143 रुपये है, अभी ये 54 फीसदी की गिरावट के साथ 66.10 रुपये के आसपास कारोबार कर रहा है।


सन फार्मा को रैनबैक्सी की खरीद से कोई फायदा नहीं मिला है मैनेजमेंट ने वित्त वर्ष 2018 की कंसोलीडेटेड आय में गिरावट के संकेत दिए हैं। वहीं सीएलएसए ने बिकवाली की राय कायम रखी है।


वॉकहार्ट के लगभग हर प्लांट पर यूएस एफडीए ने इंपोर्ट अलर्ट जारी किया है। इंपोर्ट अलर्ट की वजह से कारोबार पर बुरा असर पड़ा है। सुजलॉन की बात करें तो रिन्युएबल एनर्जी पर सरकार के फोकस से अब तक फायदा नहीं हुआ है। विंड एनर्जी सेक्टर में कंपनी के पास कोई ऑर्डर नहीं है। एचएसबीसी ने इसकी खरीद की राय कायम रखी है और लक्ष्य 26 रुपये से घटाकर 22 रुपये कर दिया है।


आइनॉक्स विंड को भी रिन्युएबल एनर्जी पर सरकार के फोकस से अब तक फायदा नहीं हुआ है। कंपनी के पास विंड एनर्जी सेक्टर में कोई ऑर्डर नहीं है। एचएसबीसी ने खरीद की राय दी है और लक्ष्य 206 से घटाकर 166 रुपये कर दिया है।


जस्ट डायल की बात करें तो इसके बिजनेस मॉडल में अब कोई दम नहीं है, नए बदलाव के बावजूद भी कोई राहत नहीं है। वहीं जीएमआर इंफ्रा की बात करें तो इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर में ग्रोथ की रफ्तार धीमी है। कंपनी पर कर्ज का बड़ा बोझ है और घाटा बढ़ना जारी है।


आईएफसीआई में सरकार अपना हिस्सा बेचने में नाकाम रही है। ये निगेटिव नेट इंटरेस्ट मार्जिन वाली एकमात्र एनबीएफसी है। कंपनी का ग्रॉस एनपीए 34.6 फीसदी के आसपास है। वहीं आर-कॉम की बात करें तो कर्ज के बोझ से कंपनी का बुरा हाल है। कंपिटीशन की वजह से कॉल दरें घटी हैं। फिच, मूडीज, इक्रा, केयर ने रेटिंग घटाई है। दिसंबर 2017 तक कर्ज 25 हजार करोड़ रुपये घटाने का लक्ष्य है।


कोल इंडिया दुनिया की सबसे बड़ी कोयला उत्पादक कंपनी है। 2020 तक 100 करोड़ टन उत्पादन का लक्ष्य है। कंपनी 15,200 करोड़ का आईपीओ लेकर आई थी। वहीं वीडियोकॉन की बात करें तो मोजांबिक में तेल-गैस डिस्कवरी से आगे फायदे की उम्मीद है। कर्ज के बोझ की वजह से कंपनी के प्रदर्शन पर बुरा असर पड़ा है। एचडीआईएल पर नजर डालें तो रियल एस्टेट में मंदी की मार से हालत खराब है। कर्ज के बोझ की वजह से कंपनी के प्रदर्शन पर बुरा असर पड़ा है।


अंबरीश बलिगा की राय


सन फार्मा: खरीदें


वॉकहार्ट: होल्ड करें


सुजलॉन: खरीदें


आइनॉक्स विंड: होल्ड करें


जस्ट डायल: बेचें


जीएमआर इंफ्रा: खरीदें


आईएफसीआई: खरीदें


आर-कॉम: बेचें


रिलायंस पावर: बेचें


कोल इंडिया: खरीदें


वीडियोकॉन: बेचें


एचडीआईएल: बेचें


अविनाश गोरक्षकर की राय


सन फार्मा: 550 रुपये के लक्ष्य के साथ होल्ड करें, अवधि 15 महीने


वॉकहार्ट: बेचें


सुजलॉन: 28 रुपये के लक्ष्य के साथ होल्ड करें, अवधि 2 साल


आइनॉक्स विंड: बेचें


जस्ट डायल: 475 रुपये के लक्ष्य के साथ होल्ड करें, अवधि 12/15 महीने


जीएमआर इंफ्रा: बेचें


आईएफसीआई: 14/15 रुपये के लक्ष्य के साथ होल्ड करें, अवधि 12/15 महीने


रिलायंस पावर: बेचें


आर-कॉम: बेचें


कोल इंडिया: 280 रुपये के लक्ष्य के साथ होल्ड करें, अवधि 12 महीने


वीडियोकॉन: बेचें


एचडीआईएल: बेचें