Moneycontrol » समाचार » स्टॉक व्यू खबरें

गिरावट की क्या रही वजह, कहां करें खरीदारी

प्रकाशित Thu, 15, 2017 पर 16:13  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

घरेलू बाजार में आज बिकवाली का दबाव रहा। बाजार की शुरुआत तो सपाट रही लेकिन थोड़ी देर में ही बिकवाली हावी हो गई और निफ्टी 9600 के नीचे फिसल गया। आज के कारोबार में निफ्टी ने 9561 तक गोता लगाया, तो सेंसेक्स 31026.5 तक लुढ़क गया। अंत में कमजोरी के इस माहौल में निफ्टी 9580 के आसपास बंद हुआ है, जबकि सेंसेक्स 31100 के नीचे फिसल गया है। सेंसेक्स में 0.25 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है, जबकि निफ्टी करीब 0.5 फीसदी लुढ़क गया है।


एयूएम कैपिटल के रिसर्च हेड राजेश अग्रवाल का कहना है कि कल से ऑयल मार्केटिंग कंपनियां रोज पेट्रोल-डीजल के दामों में बदलाव करने की योजना आनेवाले समय में किस तरह से काम करती है यह कहना थोड़ा मुश्किल है। लेकिन पिछले कुछ दिनों से ऑयल एंड गैस सेक्टर में काफी तेजी देखने को मिली थी। जिसके चलते इनमें मुनाफावसूली की जा रही है। बीपीसीएल, आईओसी, एचपीसीएल में मौजूदा स्तर से 3-4 फीसदी तक की गिरावट देखने को मिलती है तो इनमें खरीदारी करने की सलाह होगी।


फोर्टिस हेल्थकेयर में खरीदारी की राय होगी। क्योंकि आनेवाले दिनों में एसएलआर के साथ डीमर्जर की बात हो रही है अगर ऐसा होता है तो कंपनी को फायदा मिलेगा। साथ ही मेडिकल इंश्योरेंस को लेकर  रफ जिस तरह से लोग जागरुक हो रहे है उससे कंपनी को काफी फायदा मिल सकता है। लिहाजा फोर्टिस हेल्थकेयर और नारायण हृदयालय में खरीदारी करने की सलाह होगी। रियल एस्टेट सेक्टर में निवेशकों को सलाह होगी कि वह केवल ट्रेडिंग का नजरिया रख ही निवेश करें हालांकि निवेशक अपने पोर्टिफोलियों में गोदरेज प्रॉपर्टी जैसे स्टॉक्स को रख सकते है।


आनंद राठी के टेक्निकल एंड डेरिवेटिव हेड जय ठक्कर का कहना है कि बीपीसीएल, आईओसी, एचपीसीएल में मौजूदा निवेशको को बने रहने की सलाह होगी। क्योंकि इसमें हल्की सी कमजोरी के बाद अच्छी बढ़त की संभावनाएं बनी हुई है। लिहाजा बीपीसीएल में शॉर्ट पोजिशन का नजरिया रख 687 रुपये के स्टॉपलॉस 641 रुपये के लक्ष्य के लिए बने रहने की सलाह होगी।


रियल एस्टेट सेक्टर में डीएलएफ में तेजी देखने को मिल रही है. इसमें ज्यादा जोखिम के साथ ज्यादा रिटर्न मिलने की संभावनाएं बनी हुई है। लिहाजा डीएलएफ में मौजूदा स्तर से 182 रुपये के स्टॉपलॉस के साथ 205-210 रपये के लक्ष्य के लिए खरीदारी की जा सकती है।


आज ऑयल एंड गैस शेयरों में भारी दबाव देखने को मिल रहा है। उधर, सीएलएसए की हालिया रिपोर्ट में ऑयल मार्केटिंग कंपनियों में बिकवाली और ऑयल एंड गैस शेयरों में खरीदारी की राय दी गई है। वहीं कल से ऑयल मार्केटिंग कंपनियां रोज पेट्रोल-डीजल के दामों में बदलाव करेंगी। इस पर बात करते हुए ओएनजीसी के पूर्व चेयरमैन आर एस शर्मा का कहना है कि पेट्रोल-डीजल के दामों के लेकर सरकार स्पष्ट रुप से सामने नहीं आ रही है। क्योंकि ऑयल बिजनेस में रोज थोड़े बहुत उतार -चढ़ाव देखने को मिलते है लेकिन इस तरह से कोई फैसला सिर्फ डीलर्स पर अतिरिक्त बोझ डालेगा। इससे सरकारी कंपनियां भी दबाव में आयेगी।  


एचडीएफसी सिक्योरिटीज के बिजनेस प्राइवेट क्लाइंट ग्रुप हेड, वी के शर्मा का कहना है कि मौजूदा समय में बैंकिंग सेक्टर में अनिश्चितता का माहौल बना हुआ है क्योंकि पीएसयू बैकों के मर्जर किस आधार पर किया जाएगा और किस ग्रुप में किया जाएगा जिससे बैंकिंग एसेट को वैल्यू करके किया जायेगा। इन बातों पर सरकार की तरफ से कोई स्पष्टीकरण नहीं दिया गया है लिहाजा पीएसयू बैंकिंग सेक्टर में निवेश ना करने की सलाह होगी। जिन निवेशकों को बैंकिंग सेक्टर में निवेश करना है वह प्राइवेट बैंकिंग सेक्टर में आईसीआईसीआई बैंक में निवेश करें।


पावरमायवेल्थ डॉट कॉम के संदीप वागले का कहना है कि एसीसी,  अबुंजा सीमेंट में मामूली बढ़त की संबावनाएं है।