Moneycontrol » समाचार » टैक्स

इनकम टैक्स रिटर्न हेल्पलाइन, नहीं होगी रिटर्न भरने में भूल

प्रकाशित Fri, 28, 2017 पर 19:04  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

इनकम टैक्स रिटर्न भरने की आखिरी तारीक अब ज्यादा दूर नहीं है। हमें उम्मीद कि अब तक ज्यादातर टैक्सपेयर्स ने अपना टैक्स रिटर्न भर दिया होगा। लेकिन जिन टैक्सपेय़र्स को टैक्स रिटर्न भरने में किसी तरह की कोई परेशानी हो रही है तो सीएनबीसी-आवाज एक बार फिर आपकी मदद करने के लिए तैयार है। टैक्स रिटर्न फाइलिंग के काम को आसान बनाने के लिए सीएनबीसी-आवाज लेकर आया है इनकम टैक्स रिटर्न हेल्पलाइन। इस  हेल्पलाइन के जरिए हम देश भर के अलग- अलग शहरों से टैक्सपेय़र्स के सवालों का जवाब देगें और इसमें हमारी मदद करने के लिए हमारे साथ मौजूद है टैक्स एक्सपर्ट शरद कोहली।


शरद कोहली का कहना है कि सीबीडीटी ने विदेश के बैंक खातों पर सफाई देते हुए कहा है कि एनआरआईएस की चिंता को दूर करते हुए विदेश में उनके अपने बैंक खातों का ब्यौरा देने की जरुरत है। अगर रिफंड क्लेम करना हो तो किसी एक बैंक खाते का ब्यौरा देना काफी होगा। अगर एनआरआई का बैंक खाता भारत में है तो उसका ब्यौरा भी मान्य किया जायेगा।


सवालः सेक्शन 131(1ए) के तहत आयकर विभागका नोटिस मिला है, मां के नाम प्रॉपर्टी का स्त्रोत पूछा गया है। क्या जवाब देना चाहिए?


शरद कोहलीः आयकर विभाग के नोटिस से डरने की जरुरत नहीं है। एआईआर के तहत रजिस्ट्रार विभाग को प्रॉपर्टी खरीद की जानकारी देता है। आयकर विभाग को नोटिस का जवाब दीजिए और नोटिस के जवाब में सही वजह बताइए। उम्मीद है कि आयकर विभाग आपका जवाब स्वीकार कर लेगा।


सवालः एंप्लॉयर ने साढ़े पांच महीने की सैलरी दी लेकिन टीडीएस नहीं काटा, ना ही फॉर्म 16 दिया है, रिटर्न कैसे भरें?


शरद कोहलीः टैक्स देनदारी होने पर एंप्लॉयर का टीडीएस नहीं काटना गलत होगा। आपको आपनी टैक्स देनदारी की गणना करके टैक्स देना होगा। चालान 280 में अपना टैक्स भरें। आप फॉर्म 1 या फॉर्म 2 में भी रिटर्न भरें।