Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरु: साल के शुरुआत से ही करें टैक्स प्लानिंग

प्रकाशित Sat, 02, 2016 पर 16:39  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

टैक्स से जुड़ी आपकी हर समस्या दूर करने के लिए जुड़ेंगे रुंगटा फाइनेंशियल सर्विसेज के हर्षवर्धन रुंगटा और फिनकॉर्ट के फाउंडर और सीईओ तनवीर आलम। ये दोनों आपको बताएंगे कि नए साल की वित्तीय प्लानिंग कैसे की जाए जिससे आपको अच्छे रिटर्न के साथ ही टैक्स की बचत भी मिले।


हर्षवर्धन रुंगटा की सलाह


हर्षवर्धन रुंगटा के मुताबिक टैक्स प्लानिंग और फाइनेंशियल प्लानिंग दोनों अलग चीजें हैं। सरकार आपको बचत और निवेश के लिए प्रोत्साहित करने के लिए टैक्स बेनिफिट देती है। इसके अलावा इकोनॉमी के कई सेक्टरों के लिए फंड की जरूरत होती है। इसीलिए सरकार लोगों को टैक्स बेनिफिट के जरिए निवेश करने के लिए आगे लाना चाहती है।


हर्षवर्धन रुंगटा का कहना है कि सबसे पहले ये जानना जरूरी होता है कि बचत या निवेश का मकसद क्या है। निवेश योजना बनाते समय ध्यान रखें कि आपके वित्तीय लक्ष्य क्या हैं।


तनवीर आलम की सलाह


तनवीर आलम के मुताबिक वित्त वर्ष शुरू होने के साथ ही टैक्स प्लानिंग होनी चाहिए। इससे आपको हर तरह की छूट या फायदा मिल सकता है। आप वित्त वर्ष के शुरुआत में ही अपनी कंपनी से बात कर अपने सैलरी स्ट्रक्चर में बदलाव कर सकते हैं। ध्यान रखें कि साल के आखिर में होने वाला निवेश बिना किसी लक्ष्य को ध्यान में रखकर किया गया निवेश होता है। साल के अंत में किए गए निवेश से टैक्स बचत का लक्ष्य तो पूरा हो जाता है, लेकिन निवेश का नहीं, इसलिए वित्त वर्ष शुरू होने के साथ ही टैक्स प्लानिंग होनी चाहिए।


वीडियो देखें