Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरुः होम लोन में बदलाव से कैसे मिलेगा फायदा

प्रकाशित Wed, 15, 2017 पर 20:15  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

टैक्स गुरु में आज हम लेकर आये है टैक्स से जुड़े उन प्रावधानों की पूरी जानकारी जो आपके लिए खोलेंगे टैक्स बचत के सारे दरवाजें। साथ ही जानेंगे कि क्या सेक्शन 80 ईई के तहत मिलने वाली टैक्स में छूट क्या नए कारोबारी साल में जारी रहेंगी और एनपीएस में निवेश करना कैसा होगा और बेहतर। टैक्स की बारिकियों को समझाने के लिए जुड़े हैं टैक्स एक्सपर्ट शरद कोहली।  


पिछले साल सरकार ने बजट में उन लोगों को होम लोन के ब्याज 50 हजार रुपये का ज्यादा फायदा दिया था जो पहली बार घऱ खरीद रहें थे। लेकिन इस बजट में इस मुद्दे से जुड़ा कोई एलान नहीं किया गया हैं।


टैक्स एक्सपर्ट शरद कोहली का कहना है कि नए वित्त वर्ष में सेक्शन 80 ई ई का फायदा नए होम लोन ग्राहकों को नहीं मिलेगा। सिर्फ उन्हें फायदा होगी जिन्होंने 1 अप्रैल 2016 से 31 मार्च 2017 के बीच होम लोन लिया होगा। जिन्होंने पूरा फायदा नहीं लिया, वो बची रकम का फायदा अगले वित्त वर्ष में ले सकते हैं। होम लोन के ब्याज पर 50 हजार रुपये का एक्स्ट्रा बेनेफिट मिलता हैं।


घर किराये के नियमों में किए गये बदलाव को लेकर शरद कोहली का कहना है कि सेल्फ ऑक्युपाइड प्रॉपर्टी पर 2 लाख तक की छूट के नियम में कोई बदलाव नहीं किया गया हैं। हालांकि लोन का ब्याज कम और किराया ज्यादा होने पर पूरे ब्याज पर छूट मिलेगी। किराया कम और लोन का ब्याज ज्यादा होने पर 2 लाख की लिमिट दी गई है। सरकार ने एक नया सेक्शन 73 ए का प्रावधान किया है जिसके तहत लॉस फ्रॉम प्रॉपर्टी पर 2 लाख तक की लिमिट दी गई है।


सवालः किराये के घर में रहते है क्या किराये पर छूट का फायदा उठा सकते हैं।


शरद कोहलीः सैलरी वाले लोग 10(13 ए) का फायदा ले सकते है। बिजनेसमैन घर का किराये के लिए 80जीजी का फायदा ले सकते है।  80जीजी के तहत अधिकतर 5000 रुपये प्रति महीने का फायदा मिलता है। 


सवालः घर मां के नाम पर है जिसका किराया मां को देकर एचआरए की छूट लेते हैं। अब घर का पजेशन मिलरहा है जो उसी शहर में है जहां किराये पर रहता हैं। क्या एचआरए और होम लोन के ब्याज पर छूट- ये दोनों फायदें मिल सकते हैं?


शरद कोहलीः एक ही शहर में किराये पर रहने और अपना घर होने पर दोनों के फायदें नहीं होते। एचआरए का फायदा तभी मिलेगा जब किरायेका घर अपने घर से अलग शहर में हो। हालांकि घर का पजेशन मिलने पर 2 लाख रुपये तक की ब्याज में छूट मिल सकती है।