Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरुः बजट के बाद कितना बदलेगा आपका टैक्स

प्रकाशित Sat, 11, 2017 पर 16:26  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

टैक्स गुरु में आज हम ना सिर्फ बजट के ऐलानों पर टैक्सपेयर्स की चिंताएं दूर करेंगे बल्कि बजट से पहले उन अहम फैसलों पर भी नजर डालेंगे जिन्हें जानाना, समझना सबके लिए जरुरी है। टैक्स की बारिकियों को समझाने के लिए जुड़े हैं टैक्स एक्सपर्ट मुकेश पटेल।  


टैक्स एक्सपर्ट मुकेश पटेल का कहना है कि इनकम टैक्स विभाग ने ऑपरेशन क्लीन मनी की शुरुआत की है। और इस बार बजट के प्रारंभ में ही वित्त मंत्री ने पार्ट बी पढ़ना शुरु किया उसमें उन्होंने कुछ चौंका देने वाले आंकड़े भी दिए। उन्होंने हमें बताया कि नोटबंदी के दौरान बैंकों में करीब 15 लाख करोड़ रुपये जमा हुए है और उनमें 10.5 लाख करोड़ रुपये 2 लाख से ज्यादा के डिपॉजिट से आए है। 2.5 लाख तक डिपॉजिट करने वालों से कोई पूछताछ नहीं होगी। लेकिन 18 लाख नोटिस उन लोगों को मिले है, जिन्होंने 5 लाख रुपये से ज्यादा डिपॉजिट किए है।


लोगों को बताना होगा कि उन्होंने वाकई में बैंक खाते में पैसे जमा किए हैं या नहीं। अगर पैसा जमा हुआ है तो उस पैसे का हिसाब देना होगा। आपको रजिस्टर्ड ईमेल आईडी या मोबाइल पर एसएमएस से जानकारी मिलेगी। आप इनकम टैक्स विभाग की वेबसाइट पर जाकर अपने डिपॉजिट का ब्यौरा देख सकते हैं। अगर बैंक ने गलत जानकारी दी है तो उसे सही कराने का विकल्प है।  


मुकेश पटेल के मुताबिक 30 दिसंबर-31 जनवरी तक बैंकों के एआईआर के आधार पर नोटिस दिए गए है। नोटिस मिलने के बाद आपको अपने अकाउंट में कैश डिपॉजिट पर सफाई 10 दिनों में देनी होगी। आपको बताना होगा कि पैसे का स्त्रोत क्या है। आपको पूरी जानकारी देनी होगी कि कैश कहां से मिला है। और ये भी बताना होगा कि कैश देने वाली की पहचान क्या है। फिर आपके जबाव की समीक्षा करके आयकर विभाग आगे की कार्रवाई करेगा।