Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरुः जानिए टैक्स प्लानिंग की हर बारिकियां

प्रकाशित Sat, 10, 2016 पर 17:28  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

हाजिर है टैक्स से जुड़ी आपकी हर उलझन को दूर करने के लिए आपका पसंदीदा शो टैक्स गुरु। और आज आपको टैक्स प्लानिंग की बारिकिया सिखाएंगे टैक्स एक्सपर्ट बलवंत जैन और साथ ही लेंगे टैक्स से जुड़े आपके हर सवाल।  


क्या सोने पर कसेगा शिकंजा
सोना रखने की कोई लिमिट तय नहीं कि गई है। सीबीडीटी ने 1 दिसंबर को इस बारे में सफाई दी थी कि विवाहित महिला का 500 ग्राम सोना जप्त नहीं होगा। वहीं अविवाहीत लडकियों का 250 ग्राम तक सोना जप्त नहीं होगा। इसके अलावा अविवाहित पुरुषों के 100 ग्राम की ज्वेलरी जप्त नहीं होगी। घोषित आय से ज्वेलरी की खरीद पर लिमिट नहीं है। लेकिन सोनें के सिक्के, छड़ या ईंटों के बारे में पूछताछ हो सकती है।  


प्रॉपर्टी पर कैपिटल गेन
प्रॉपर्टी पर हुए कैपिटल गेन पर सेक्शन 54 के तहत टैक्स छूट मिलती है। कैपिटल गेन की पूरी रकम का निवेश नई प्रॉपर्टी में करना होता है। कैपिटल गेन टैक्स छूट के लिए अपने नाम पर प्रॉपर्टी लेनी होगी। बेटी या वेटे के नाम पर प्रॉपर्टी लेने पर कैपिटल गेन टैक्स छूट नहीं मिलेगी। आप बेटी को नॉमिनी बना दे या वसीयत में प्रॉपर्टी बेटी के नाम कर दें। चाहे तो बाद में बेटी को प्रॉपर्टी गिफ्ट में भी दे सकते हैं। बेटी को प्रॉपर्टी गिफ्ट करने पर कोई टैक्स नहीं देना होगा।


नहीं खोला एनआरओ अकाउंट खाता, क्या करें
आपको विदेश जाते ही बैंक को सूचित करना चाहिए था। बैंक को बताना चाहिए था कि आपका दर्जा एनआरआई का हो गया है। बैंक आपके सेविंग अकाउंट को ही एनआरओ अकाउंट बना देता। कतर में हुई इनकम सीधे भारत में बैंक अकाउंट में डाली है तो टैक्स देना पड़ेगा और टैक्स की देनदारी एनआरआई स्टेट्स पर निर्भर होगी। सिर्फ पैसे ट्रांसफर करने पर कोई देनदारी नहीं होगी।