Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरुः बनाएं टैक्स बचत की राह आसान

प्रकाशित Sat, 20, 2016 पर 13:42  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

टैक्स से जुड़ी आपकी हर समस्या दूर करने के लिए जुड़ेंगे सक्षम वेंचर्स के अमिताभ सिंग और टैक्स गुरु सुभाष लखोटिया जो करेंगे आपकी टैक्स बचत की राह आसान। साथ ही जानेंगे बजट से क्या है टैक्सपेयर्स की उम्मीदें।


सक्षम वेंचर्स के अमिताभ सिंग की सलाह


बजट से टैक्सपेयर्स की उम्मीदें
वित्तमंत्री को बेसिक एग्जेंप्शन लिमिट को महंगाई दर से जोड़ने पर विचार करना चाहिए। उम्मीद है कि बेसिक एग्जेंप्शन लिमिट 2.5 लाख रु से बढ़कर 3 लाख रु हो जाएं।


होम लोन और किराए पर टैक्स
किराए के मकान में रहने पर हाउस रेंट यानि एचआरए का फायदा मिल सकता है। जब तक किराया दिया जाता है तब तक एचआरए का फायदा मिल सकता है। होम लोन के ब्याज पर साल में 2 लाख तक का छूट का फायदा करदाता उठा सकते हैं। रजिस्ट्रेशन और स्टैम्प ड्यूटी आपके नए मकान की खरीद कीमत में जुडती है।


प्रॉपर्टी और गिफ्ट पर टैक्स
सेक्शन 54 का फायदा उठाने के लिए घर 3 साल में बन जाना चाहिए। आप अपनी बेटियों को घर गिफ्ट कर सकते हैं। बेटियों को गिफ्ट देने पर कोई टैक्स देनदारी नहीं बनता है।


बकाया सैलरी और टैक्स
पिछले महीनों की बकाया सैलरी मिलने पर छूट का प्रावधान है। इसके लिए फॉर्म 10ई भरने की जरुरत नहीं है। आप सेक्शन 89 के तहत बकाया सैलरी पर टैक्स छूट का फायदा उठा सकते हैं।


एचयूएफ के नियम
एचयूएफ बेटा उसके बाद एचयूएफ का कर्ता हो जाएगा। इसके लिए उसे किसी तरह की कागजी कार्रवाई करने की जरुरत नहीं है। एचयूएफ का बेटा अपना अलग एचयूएफ भी बना सकता है। एक व्यक्ति एक साथ 2 एचयूएफ का कर्ता हो सकते हैं।


कैसे मिलेगा रिफंड
बैंक कटे हुए टैक्स को नहीं लौटा सकता है। करदाता फॉर्म 26एएस में बैंक के कटे गए टैक्स का ब्यौरा देख सकते हैं।  


वीडियो देखें